अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

राजस्थान रॉयल्स ने किया कप्तान संजू सैमसन को रिटेन


नयी दिल्ली:- संजू सैमसन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के लिए राजस्थान रॉयल्स द्वारा रिटेन किए जाने वाले पहले खिलाड़ी हैं। क्रिकइंफ़ो को पता चला है कि उन्होंने इस सप्ताह 14 करोड़ रुपये प्रति सीज़न के अनुबंध को स्वीकार किया है और वह टीम के कप्तान बने रहेंगे।साथ ही यह भी पता चला है कि 30 नवंबर की समय सीमा से पहले रॉयल्स द्वारा रिटेन किए जाने वाले खिलाड़ियों की सूची में सबसे पहला नाम सैमसन का था। शेष तीन स्थानों के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज़ जॉस बटलर, तेज़ गेंदबाज़ जोफ़्रा आर्चर, ऑलराउंडर लियाम लिविंगस्टन और अनकैप्ड सलामी बल्लेबाज़ यशस्वी जायसवाल प्रबल दावेदार हैं। वैसे नियमानुसार कोई भी फ़्रेंचाइज़ी सिर्फ़ दो ही विदेशी खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है। सैमसन को रॉयल्स ने आठ करोड़ रुपये की राशि देकर 2018 में अपनी टीम में शामिल किया था। पिछले सीज़न उन्हें कप्तानी सौंपी गई। हालांकि वह टीम को प्लेऑफ़ में नहीं ले जा पाए। हालांकि उन्होंने 137 के स्ट्राइक रेट से 484 रन बनाकर अच्छा प्रदर्शन किया था। बेन स्टोक्स (साढ़े 12 करोड़ रुपये), आर्चर (7.2 करोड़ रुपये) और बटलर (4.4 करोड़ रुपये) पर भी रॉयल्स ने भारी पैसे ख़र्च किए लेकिन उन्होंने बड़ा प्रभाव भी डाला। आर्चर आईपीएल 2020 में प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट रहे थे। लेकिन इस सीज़न चोट के चलते उन्हें बाहर बैठना पड़ा था। रॉयल्स प्रबंधन अपने स्टार तेज़ गेंदबाज़ को रिटेन करने के लिए उत्सुक है, हालांकि, उनकी फ़िटनेस चिंता का विषय बन गई है। बटलर के जल्द ही रिटेंशन पर हस्ताक्षर करने की उम्मीद है लेकिन स्टोक्स की स्थिति स्पष्ट नहीं है। इस सुपरस्टार ऑलराउंडर ने 2021 में क्रिकेट से ब्रेक लिया था और अभी-अभी प्रशिक्षण पर लौटे हैं। उनके लिए मुख्य सवाल पैसा है और क्या फ़्रेंचाइज़ी के पास प्रस्ताव देने के लिए वह रक़म पर्याप्त होगी। आईपीएल के नियमों के अनुसार, पुरानी आठ टीमें कुल चार खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है, जिनमें से अधिकतम दो विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं। इस व्यवस्था की लागत 42 करोड़ रुपये है और नीलामी में ख़र्च करने के लिए उनके पास 48 करोड़ रुपये बचेंगे। रॉयल्स के 28 नवंबर तक अंतिम तीन रिटेंशन पर मुहर लगाने की उम्मीद है। और, जबकि वे सैमसन को 14 करोड़ रुपये का भुगतान कर रहे हैं, उनके खाते से 16 करोड़ रुपये कटेंगे क्योंकि वह उन चार खिलाड़ियों में से पहले हैं जिन्हें फ़्रेंचाइज़ी ने बरक़रार रखने के लिए चुना है।

%d bloggers like this: