January 18, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

राजस्थान की राजनीति:-पायलट के वापस लौटने से खुश नहीं गहलोत खेमा, मंत्रिमंडल फेरबदल में तस्वीर होगी साफ

जयपुर:- सचिन पायलट का वापस राजस्थान लौटना भले ही कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व को सुकून दे रहा हो लेकिन इससे सीएम अशोक गहलोत के करीबी नेता खुश नहीं हैं। सीएम के नजदीकी कई वरिष्ठ नेताओं ने सचिन पायलट खेमे के विद्रोह और फिर वापसी पर नाराजगी जतानी शुरू भी कर दी है। सूत्रों के मुताबिक पार्टी के कुछ विधायकों ने पायलट की वापसी पर नाराजगी से कांग्रेस हाईकमान को अवगत भी करा दिया है।

पायलट द्वारा कही गई बातों से ज्यादा नाराजगी

कांग्रेस पार्टी के एक सूत्र ने बताया है-गहलोत के नजदीकी विधायकों ने पार्टी हाईकमान से लिखित में राय प्रकट कर दी है। इन विधायकों में हालिया सियासी संकट और फिर पायलट खेमे की वापसी को लेकर काफी नाराजगी देखी जा रही है। कहा जा रहा है कि विधायकों में ये गुस्सा सिर्फ पायलट की वापसी को लेकर ही नहीं है। दरअसल ‘शांति’ के बाद जिस तरह से पायलट ने कई इंटरव्यू दिए हैं उसे लेकर भी नाराजगी है। गौरतलब है कि बीते दो दिनों के दौरान कई इंटरव्यू में सचिन पायलट ने कहा है कि उन्हें और उनके करीबियों को वो काम करने की छूट नहीं दी गई जो वो करना चाहते थे। उन्होंने यह भी याद दिलाया कि कैसे विधानसभा चुनावों की जीत में उनका बेहद महत्वपूर्ण रोल रहा है।

मंत्री ने इशारों में कही बात

पायलट ने यह भी कहा है कि पार्टी हाईकमान राज्य के लिए उनके रोडमैप को लेकर राजी है। सचिन पायलट के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर आवाज बुलंद करने वालों में ट्रांसपोर्ट मंत्री प्रताप सिंह कछरियावास प्रमुख हैं। एक समय में पायलट के बेहद नजदीकियों में शुमार किए जाने वाले प्रताप सिंह बीते एक महीने के सियासी संकट के दौरान गहलोत खेमे की तरफ से अग्रणी नेताओं में रहे हैं। उन्होंने लगातार पायलट खेमे की आलोचना की है।

Recent Posts

%d bloggers like this: