भोपाल समेत मध्यप्रदेश में अनेक स्थानों पर बारिश

भोपा:- राजधानी भोपाल और राज्य में अनेक स्थानों पर आज बारिश होने के कारण विजयादशमी के पर्व पर रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले दहन से संबंधित आयोजन प्रभावित होने की आशंका बन गयी है।

भोपाल में सुबह से हल्के बादल छाए रहे और इसके बाद दोपहर में तेज बारिश दर्ज की गयी। रात्रि में शहर और आसपास के इलाकों में बारिश होने से मौसम में ठंडक घुल गयी है। भोपाल में ही दो दर्जन से अधिक स्थानों पर रावण के पुतला दहन के आयोजन व्यापक स्तर पर किए गए हैं। हालाकि आयोजकों की ओर से बारिश से पुतलों को बचाने के जतन भी किए गए।

स्थानीय मौसम केंद्र के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान रीवा, शहडोल, जबलपुर और सागर संभागों में अधिकांश स्थानों पर तथा भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर और चंबल संभागों में कहीं कहीं वर्षा दर्ज की गयी। शेष संभागों में मौसम शुष्क रहा। राज्य में अधिकांश स्थानों पर अगले एक दो दिनों तक बारिश होने की संभावना व्यक्त की गयी है।

केंद्र के मुताबिक आज सुबह समाप्त हुए पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में सबसे अधिक बारिश खजुराहो में 63 मिलीमीटर (मिमी) दर्ज की गयी। इसके अलावा दमोह में 59 मिमी, उमरिया में 51, सीधी में 37, रीवा में 25, जबलपुर में 23, ग्वालियर में 11, सतना में 11, नौगांव में 10, मलाजखंड में 9, नरसिंहपुर में 5, मंडला में 4, पचमढ़ी में 3, सागर में 2 और भोपाल में लगभग 1 मिमी बारिश दर्ज की गयी।

दूसरी ओर भोपाल समेत संपूर्ण मध्यप्रदेश में बुरायी पर अच्छायी की विजय के प्रतीक पर्व दशहरा (विजयादशमी) को मनाने के लिए धर्मावलंबियों ने व्यापक तैयारियां की हैं। विजयादशमी को ही भगवान श्रीराम ने बुरायी और अन्याय के प्रतीक लंका के राजा रावण का वध किया था। इसलिए नागरिक विजयादशमी पर्व को मनाते हैं। विजयादशमी को अस्त्र और शस्त्र पूजन का भी विशेष विधान है और आज सुबह से ही अनेक स्थानों पर अस्त्र और शस्त्र की पूजा की गयी। सोशल मीडिया के जरिए नागरिक एक दूसरे को विजयादशमी की बधाइयां दीं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: