अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अवैध बालू खनन मामले में निलंबित एसपी राकेश दुबे के ठिकानों पर छापेमारी


पटना:- बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने अवैध बालू खनन में माफियाओं से सांठगांठ के आरोप में भोजपुर जिले के निलंबित तत्कालीन पुलिस अधीक्षक (एसपी) राकेश दुबे के राजधानी पटना तथा झारखंड के दो-दो ठिकानों पर एक साथ छापेमारी कर रही है। ईओयू के अपर पुलिस महानिदेशक एन. एच. खान ने गुरुवार को यहां छापेमारी की पुष्टि की। तत्कालीन पुलिस अधीक्षक श्री दुबे के राजधानी पटना के श्रीकृष्णापुरी थाना क्षेत्र के आवासीय मकान, रूपसपुर थाना क्षेत्र के अभियंता नगर स्थित एक फ्लैट जो कुछ दिन पूर्व ही उन्होंने खरीदी थी। इनके अलावा झारखंड के देवघर के निकट जसीडीह और उनके जसीडीह के सिमरिया स्थित पैतृक घर पर छापेमारी की जा रही है। इस बीच ईओयू के सूत्रों ने बताया कि श्री दुबे के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला ईओयू थाना में दर्ज किया गया है। न्यायालय ने निलंबित पुलिस अधीक्षक के ठिकानों पर जांच के लिए कल ही सर्च वारंट जारी किया था। इसके बाद ईओयू की अलग-अलग टीम आज तड़के से ही एक साथ छापेमारी करने में लगी है। सूत्रों ने बताया कि ईओयू के पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में चार अलग-अलग टीम छापेमारी कर रही है। तलाशी के दौरान कई निवेश किए जाने से संबंधित दस्तावेज जब्त किए गए हैं। हालांकि जांच टीम के अधिकारी अभी कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि अवैध बालू खनन के मामले में ईओयू अबतक भोजपुर जिले के निलंबित तत्कालीन मोटरयान निरीक्षक विनोद कुमार, भोजपुर जिले के आरा के तत्कालीन निलंबित पुलिस उपाधीक्षक पंकज रावत, पाली के निलंबित पुलिस उपाधीक्षक तनवीर अहमद के ठिकानों पर छापेमारी कर आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त कर चुकी है। इसी मामले में औरंगाबाद के तत्कालीन सदर पुलिस उपाधीक्षक अनूप कुमार, रोहतास जिला के डेहरी के तत्कालीन पुलिस उपाधीक्षक संजय कुमार को भी निलंबित किया गया था। इसी तरह डेहरी ऑन सोन के तत्कालीन अनुमंडल पदाधिकारी सुनील कुमार सिंह और खान एवं भूतत्व विभाग के पांच अधिकारियों पर भी अवैध बालू खनन के मामले में निलंबन की कार्रवाई की गई थी।

%d bloggers like this: