बिहार में शराब बंदी के बाद पूर्णिया पुलिस को अभी तक कि सबसे बड़ी कामयाबी मिली। दो ट्रक शराब को बायसी पुलिस ने किया जब्त। लगभग 10,620 बोतल में 3058 लीटर शराब थी दोनों ट्रकों में बाजार मूल्य में शराब की कीमत लगभग 60 लाख रुपये आंकी गई है।

दो ट्रक शराब जब्त होने से शराब माफियाओं में हड़कम्प मच गया है।

जब से बिहार में शराब बंदी का अभियान चला है, तब से बिहार में खुलेआम शराब बेचना तो दूर आप कहीं छुप कर भी शराब नही पी सकते है। बताते चलें कि बिहार में होली और लोकसभा चुनाव को लेकर पुलिस प्रशासन काफी मुस्तैद दिख रही है।

पूर्णिया जिले में पुलिस ने जिले के सभी चौक-चौराहों पर हर दिन विशेष चेकिंग अभियान चला रही है। जिले के अंदर आने वाली सभी चेक पॉइंट को पुलिस ने सील कर रखा है। बायसी थानाक्षेत्र के अंतर्गत सभी चेक पॉइंट पर विशेष चेकिंग अभियान चलाया गया था।

पूर्णिया पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा को गुप्त सूचना मिली कि शराब की एक बड़ी खेप पूर्णिया आने वाली है। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक ने अपनी एक स्पेशल टीम को इसके पीछे लगा दिया।

पुलिस ने बायसी पूरब चौक पर विशेष चेकिंग अभियान चलाया। देर रात्रि दो ट्रक सिल्लीगुड़ी के विधान नगर से आ रही थी। बायसी में ट्रक के ड्राइवर ने देखा कि इतनी रात को पुलिस चेकिंग कर रही है तो ट्रक ड्राइवर को समझते देर नही लगी। ट्रक ड्राइवर ने ट्रक की स्पीड बढाकर भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस की मुस्तैदी ने दोनों ट्रकों को घेरकर गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार किए दोनों लोग दीपक कुमार, पिता कालू राम एवं दूसरा विनोद कुमार उर्फ हरेंद्र सिंह था। दोनों यूपी का रहने वाला बताया जा रहा है। गिरफ्तार दोनों तस्कर ने बताया कि सारा माल सिल्लीगुड़ी के विधान नगर से लेकर समस्तीपुर जाना था।

इसी बीच पूर्णिया में गुलाबबाग जीरोमाइल से आगे एक ढाबे में मुझे दूसरे ड्राइवर को गाड़ी सुपुर्द करने को कहा गया था। फिलहाल गिरफ्तार दोनों तस्कर हवालात में है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: