अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

जेपीएससी पीटी परीक्षा के आयोजन से सम्बंधित तैयारी बैठक


हजारीबाग:- 19 सितंबर को निर्धारित झारखंड लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा के सफल अयोजन से सबंधित तैयारी बैठक अपर समाहर्ता रंजीत कुमार लाल की अध्यक्षता में हुई।
बैठक में जिला अंतर्गत निर्धारित 88 परीक्षा केंद्रों पर आयोग के गाइड लाइन के अनुरूप, व्यवधान रहित व कदाचारमुक्त सफल परीक्षा आयोजन से सम्बंधित महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई।
बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारियों व अंचल अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि अपने अपने प्रखंड क्षेत्र में निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर मूलभूत सुविधाओं को सुनिश्चित कराने के लिए सभी केंद्रों का खुद जाकर भौतिक सत्यापन कर ले। केन्द्र पर आयोग की मार्गदर्शिका में निर्धारित मापदंडों के अनुरूप बिजली, पानी, शौचालय, साफ-सफाई,बेंच डेस्क आदि व्यवस्था को समयपूर्व सुनिश्चित कर लेने को कहा गया। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दिन आयोजन की सफलता केन्द्राधीक्षकों की सजगता पर निर्भर करेगी कि वे कितनी सुगमता से परीक्षा का आयोजन करते हैं। उन्होंने बताया कि 24 घंटे जिला स्तरीय कंट्रोल रूम कार्यरत रहेगा। किसी भी तरह की समस्या आने पर वे उच्चाधिकारियों से तत्काल संपर्क कर सकते हैं।

मार्गदर्शिका का ठीक से अध्ययन करें

उपायुक्त ने सभी केंद्राधीक्षकों को शिक्षकों के साथ बैठककर मार्गदर्शिका का ठीक से अध्ययन करने को कहा। उन्होंने बताया कि परीक्षा दो पालियों में आयोजित की जाएगी। पहली पाली पूर्वाह्न 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा दूसरी पाली दोपहर दो से अपराह्न चार बजे तक होगी। सभी केंद्राधीक्षकों को कोविड-19 गाइडलाइन के तहत परीक्षा संचालित करने का निर्देश दिया गया है। अपर समाहर्ता ने कहा सभी केंद्राधीक्षक को कदाचार मुक्त परीक्षा कराने की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। बैठक के दौरान परीक्षा के सफल संचालन के लिए बेंच-डेस्क की व्यवस्था, दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए रैम्प, प्रवेश द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग, सीटिंग अरेंजमेंट का चार्ट चिपकाने तथा परीक्षार्थियों के लिए पंखा, पेयजल, शौचालय, साफ-सफाई की व्यवस्था, महिला-पुरुष शौचालय की अलग-अलग व्यवस्था की निगरानी सहित त्रुटिरहित व्यवस्था करने के निर्देश ज़िला शिक्षा पदाधिकारी को दिए। जरूरत के अनुरूप बेंच डेस्क की व्यवस्था नजदीकी विद्यालयों से करने का निर्देश भी ज़िला शिक्षा अधिकारी को दिया गया साथ ही इस कार्य में प्रखंड विकास पदाधिकारियों को समन्वय बना कर कमियों को दुरुस्त करने को कहा गया।
इलेक्ट्रोनिक उपकरण पूर्णतः प्रतिबंधित
अपर समाहर्ता ने बताया कि कुल 88 परीक्षा केन्द्रों में लगभग 34,500 परीक्षार्थी जेपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि परीक्षा केंद्र के अंदर किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक गैजेट्स जैसे मोबाइल, टैबलेट, ब्लूटूथ, कैलकुलेटर, इलेक्ट्रॉनिक घड़ी जैसे डिजिटल उपकरण ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। इसका उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

%d bloggers like this: