अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सियासत: ‘गिर जाएगी नीतीश सरकार’ पर मुकेश सहनी ने तोड़ी चुप्पी, मांझी ने तो कह दी यह बात

पटना:- बिहार की सियासत में इस वक्त हलचल मची हुई है। दरअसल, राजद नेता तेजस्वी यादव ने कुछ दिन पहले बड़ा दावा किया। उन्होंने कहा कि अगले दो-तीन महीने में नीतीश सरकार गिर जाएगी। तेजस्वी के इस बयान पर एनडीए की सहयोगी वीआईपी के प्रमुख मुकेश सहनी ने चुप्पी तोड़ी। वहीं, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) मुखिया जीतन राम मांझी ने राजद नेता के बयान को बकवास करार दिया। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार को कोई खतरा नहीं है।
मांझी ने तेजस्वी-चिराग पर साधा निशाना
जानकारी के मुताबिक, जीतन राम मांझी ने कहा कि बिहार में एनडीए गठबंधन पूरी तरह एकजुट है। चिराग पासवान के नेतृत्व वाला लोजपा गुट राजद नेता तेजस्वी यादव से हाथ मिला ले तो भी नीतीश कुमार सरकार पर कोई असर नहीं पड़ेगा। मांझी ने चिराग पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चिराग के नेतृत्व वाली लोजपा अब केंद्र में एनडीए की सहयोगी नहीं है, क्योंकि उसने बिहार विधानसभा चुनाव अपने दम पर लड़ा था।
सहनी ने भी तेजस्वी को आड़े हाथों लिया
जीतन राम मांझी की तरह वीआईपी प्रमुख और बिहार के पशुपालन व मत्स्य पालन मंत्री मुकेश सहनी ने भी तेजस्वी के दावे को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को दिन में सपने देखने की आदत होती है। उन्हें ऐसा करने दीजिए। अगर कोई ऐसा करता है तो इसमें क्या हर्ज है? माना जा रहा है कि मांझी और सहनी के बयानों से बिहार में सत्तारूढ़ एनडीए को राहत मिलेगी, क्योंकि कुछ दिन पहले तेजस्वी यादव के बड़े भाई और हसनपुर से राजद विधायक तेज प्रताप यादव ने मांझी से उनके आवास पर मुलाकात की थी। इसके बाद राज्य की राजनीति में उठापटक की अटकलें लग रही थीं। हालांकि, मांझी ने इसे निजी दौरा बताया था।
तेजस्वी के इस बयान से बढ़ी थी हलचल
गौरतलब है कि तेजस्वी यादव ने 25 जून को अपने विधानसभा क्षेत्र राघोपुर के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया था। उस दौरान उन्होंने लोगों की शिकायतें और नाराजगी सुनीं। इसके बाद तेजस्वी ने कहा कि घबराओ मत। बिहार की सरकार दो-तीन महीने में गिरने वाली है। तेजस्वी के इस बयान से बिहार में सियासी पारा चढ़ गया।

%d bloggers like this: