अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लाल आतंक के गढ़ चतरा जिले के सभी थानों में मोबाइल बैंक स्थापित कर बच्चों का भविष्य गढ़ने में जुटी पुलिस


चतरा:- लाल आतंक के गढ़ चतरा में बच्चों का भविष्य गढ़ने में पुलिस जुटी है। पहले तो कोरोना ने बच्चों की पढ़ाई को बुरी तरह प्रभावित किया। दूसरी तरफ गरीबी ने भी कमर तोड़ दी। जिसके कारण सैकड़ों बच्चे ऐसे थे जो चाहत के बावजूद मोबाइल नहीं होने के कारण कोरोना काल मे ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर सके। ऐसे छात्रों का भविष्य संवारने का जिम्मा चतरा पुलिस ने ठान लिया है। गरीब छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए चतरा पुलिस ने कारगर पहल की है। डीजीपी नीरज सिंहा के निर्देश पर एसपी राकेश रंजन के द्वारा जिले के सभी थानों में मोबाईल बैंक स्थापित किया गया है। जिसके माध्यम से गरीब, जरूरतमंद व ऑनलाइन शिक्षा से महरूम असहाय बच्चों को मुफ्त स्मार्ट फोन व लैपटॉप चतरा पुलिस द्वारा आमलोगों के सहयोग से उपलब्ध कराया जा रहा है। पुलिस की इस सार्थक पहल को आम लोगों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है।पहले फेज में चतरा पुलिस ने जिले के विभिन्न प्रखंडों के दर्जनों विद्यालयों के सैकड़ों बच्चों के बीच लैपटॉप, टैब और मोबाइल का वितरण भी किया है। इसके बाद कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रान के संभावित खतरों को देखकर पुलिस ने कमर और कस ली है। पुलिस गरीब बच्चों के लिये ऑनलाइन शिक्षा का मार्ग प्रशस्त करने को लेकर लोगों के सहयोग से फिर अभियान चलाने में जुटी है। इस अभियान के तहत पुलिस ने आम लोगों से एक बार फिर बढ़ चढ़कर पुलिस के इस अभियान से जुड़कर बच्चों के भविष्य गढ़ने में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने की अपील की है। सदर थाना प्रभारी लव कुमार ने लोगों से अपील किया है कि घरों में खराब पड़े पुराने मोबाइल, टैब और लैपटॉप थाना में स्थापित मोबाइल बैंक में जमा करें। ताकि उन्हें दुरुस्त करा कर शिक्षा से वंचित बच्चों का भविष्य गढ़ने में पुलिस ना सिर्फ सफल हो बल्कि आम लोग भी इस पुनीत कार्य में उनका हिस्सेदार बने।

%d bloggers like this: