अररिया:- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में दो तरह की राजनीति चल रही है। एक तरफ देशभक्ति तो दूसरी तरफ वोटभक्ति। कांग्रेस और महामिलावटी नेता वोटभक्ति की राजनीति करते हैं। हम देशभक्ति की राजनीति करते हैं। प्रधानमंत्री शनिवार को बिहार के अररिया में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि दो चरण के चुनाव के बाद विरोधियों की जमीन खिसक गई है। वे अब एयर स्ट्राइक के सुबूत नहीं मांग रहे हैं। विरोधियों ने आतंकियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का सबूत मांगना बंद कर दिया है। पीएम ने अररिया-सुपौल रेल मार्ग और इंडो-नेपाल सड़क सहित कई परियोजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि ये काम शीघ्र पूरे होंगे।

साहित्यकार फणीश्वरनाथ रेणु की धरती फारबिसगंज (अररिया लोकसभा) के हवाई अड्डा मैदान में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने मधेपुरा के राजग प्रत्याशी दिनेश चंद्र यादव, सुपौल के दिलेश्वर कामैत और झंझारपुर के रामप्रीत मंडल के लिए वोट मांगे। बिहार की यह चौथी चुनावी रैली थी।
ब्याज समेत विकास कर लौटाऊंगा
करीब आधे घंटे के संबोधन में पीएम ने मतदाताओं से कहा कि वे धूप के ताप में तप रहे हैं। यह तपस्या बेकार नहीं जाएगी। ब्याज समेत विकास कर लौटाऊंगा। मोदी ने कहा कि पूर्वी भारत का यह इलाका आने वाले समय में नये भारत की अगुवाई करेगा। इस क्षेत्र में रेल, सड़क, एलपीजी, बिजली, मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं का विस्तार हो रहा है। पूर्वी भारत में बिहार, असम, ओडिशा, बंगाल को इन सेवाओं का फायदा मिलेगा।
पद्म पराग रेणु ने ‘मैला आंचल’ उपन्यास की प्रति भेंट की
इसके पूर्व मोदी को मंच पर ही रेणु के पुत्र पूर्व विधायक पद्म पराग रेणु ने ‘मैला आंचल’ उपन्यास की प्रति भेंट की। इस उपन्यास में का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि रेणु ने लिखा है कि मैं साधना करूंगा, ग्रामवासिनी भारत माता के आंचल तले। मोदी ने कहा कि वे देश के लिए साधना कर रहे हैं। उन्होंने खुद को मां भारती का पुत्र बताया। मोदी ने कहा कि ‘देश के टुकड़े होंगे’ बोलने वालों को करारा जवाब देंगे। उनके सीने पर आपका एक-एक शब्द पहुंचेगा, तभी उन्हें गहरी चोट लगेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: