अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

प्लास्टिक सर्जन्स एसोसिएशन की बैठक 2 व 3 अक्टूबर को, तैयारी शुरू


रांची:- बिहार – झारखंड प्लास्टिक सर्जन्स एसोसिएशन का वार्षिक अधिवेशन जो आगामी दिनांक 2 और 3 अक्टूबर को रांची के जेएससीए स्टेडियम में आयोजित है। अधिवेशन की तैयारी प्रगति सह तकनीकी कार्यक्रम निर्धारित करने के लिए रांची के प्लाटिक सर्जनों की बैठक आज दूसरी बैठक सिंह सदन, बरियातू में हुई।
ज्ञातव्य है कि बिहार राज्य विभाजन के 21 वर्ष बाद भी बिहार – झारखण्ड के प्लाटिक सर्जनों का संगठन अलग नहीं हुआ है और जुड़वां भाई की तरह आज भी साथ साथ इस विशिस्टता के विकाश में लगे हैं। एसोसिएशन के वर्तमान प्रेसिडेंट डॉ अनन्त सिन्हा ने बताया कि इस कॉन्फ्रेंस में जन्म दोष, जलन व चोट उपरांत विकलांगता, अवांछित दाग, केश प्रत्यऱोपन , माइक्रो सर्जरी, लेजर सर्जरी, लाइपोसक्शन से चर्बी हटाने आदि विषयोँ पर मूलतः चर्चा होगी। उड़ीसा, बंगाल उत्तर प्रदेश के साथ साथ अन्य राज्यों के प्लास्टिक सर्जन भी भाग लेंगें और पूर्वी भारत में इस विशिस्टता के बारे में लोगों को जागरूक करने पर विचार सह इस छेत्र मे हो रहे काम की जानकारी दी जाएगी, बिहार झारखंड पप्लास्टिक सर्जन्स एसोसियेशन के सनरक्क्षक डॉ. अजय कुमार सिंह ने बताया कि पूरे राज्य में मात्र रिम्स में ही इस विशिष्टता की सेवा उपलब्ध है, इस विषय के स्नातकोत्तर की पढ़ाई केवल पटना मेडिकल कालेज पटना में ही होती है। इसे अन्य मेडिकल कालेजों में भी उपलब्ध कराने का प्रयास जारी है, झारखंड और बिहार के औद्योगिक एवम कृषि क्षेत्र में हाथ के चोट,जलने की दुर्घटनाओं , अधोगिक दुर्घटनाएं आम हैं, सही समय पर इलाज से काफी विकलांगता रोकी जा सकती हैं। बैठक की अद्यकक्षता बिहार झारखण्ड के पूर्व प्रेजिडेंट डॉ अरविंद प्रकाश ने की।इस बैठक में मुख्य अतिथि पूर्व झारखंड राज्य के स्वस्थ विभाग के निदेश प्रमुख डॉ विजय शंकर दास भी थे,जो खुद भी एक प्रशिक्षित प्लास्टिक सर्जन हैं।इनके अलावा, डॉ0 अजय कुमार सिंह, डॉ0 अरविंद प्रकाश, डॉ0 अनंत सिन्हा, डॉ. राजकुमार डॉ0 पंकज कुमार, डॉ0 विवेक रंजन, डॉ0 सौरभ शर्मा, डॉ0 तन्मय प्रसाद, डॉ0 विवेक गोस्वमी और डॉ0 अपर्णा शामिल हुई।

%d bloggers like this: