2019_5$largeimg22_May_2019_053328663.jpgपटना :- लोकसभा चुनाव के बाद पटना में मेट्रो प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो जायेगा । आदर्श आचार संहिता के लागू होने के बाद न तो जमीन का अधिग्रहण किया जा सकता था और नहीं टेंडर जारी हो सकता था । आदर्श आचार संहिता के समाप्त होने के तत्काल बाद पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (पीएमआरसी) जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू करेगा । पटना मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए 30 हेक्टेयर जमीन की आवश्यकता है । उम्मीद की जा रही है कि छह माह में मेट्रो की जमीन अधिग्रहण का काम पूरा हो जायेगा । बताते चले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव कार्यक्रम के एलान के कुछ ही दिन पहले पटना चिड़ियाघर के पास मेट्रो का शिलान्यास किया था ।

सबसे पहले डिपो के लिए ली जायेगी जमीन

पीएमआरसी के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, सबसे पहले कॉरपोरेशन को डिपो स्थापित करने के लिए जमीन की आवश्यकता है । मेट्रो रेल के दो डिपो, पहला नया अंतरराज्यीय बस अड्डे के पास तो दूसरा सिपारा के पास एतवारपुर में स्थापित किया जाना है । कॉरपोरेशन पहले डिपो के लिए जमीन अधिगृहीत कर डिपो निर्माण का काम शुरू करेगा । इसके बाद रूट की जमीन की अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू की जायेगी । जमीन अधिग्रहण के साथ-साथ टेंडर की प्रक्रिया भी जारी रहेगी । पटना मेट्रो के लिए कंसल्टेंट की नियुक्ति की जानी है । इसके लिए भी टेंडर जारी किया जायेगा । साथ ही कॉरपोरेशन में कर्मचारियों की नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू हो जायेगी । मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए कर्ज की व्यवस्था की जानी है । यह राशि किस वित्तीय संस्था से हासिल की जाये, यह भी तय करना है । इस सबके बीच राज्य सरकार और केंद्र सरकार के बीच ज्वाइंट वेंचर के लिए एमओयू भी होना है । सभी प्रक्रियाएं छह माह में शुरू होने की संभावना हैं ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: