अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पासवा अध्यक्ष ने निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का किया उदघाटन


रांची:- आदर्श ग्रामीण पब्लिक स्कूल टांगर बीजूपाड़ा चान्हो में आयोजित दो दिवसीय निःशुल्क नेत्र जाँच शिविर का उदघाटन आज प्रदेश पासवा अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे ने किया।पासवा एवं भगवान महावीर आई केयर हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर मेडिका के साथ मिलकर डॉ अमित रंजन एवं उनकी टीम द्वारा नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया। जांच शिविर में आसपास के दर्जनों मरीजों ने आंख से संबंधित समस्याओं का यथा आँख का लाल होना, आंख से पानी गिरना, आंख से कम दिखाई देना,मोतियाबिंद काला मोतियाबिंद आदि सभी रोग एवं चश्मा का भी जाँच कराया।
नेत्र जांच शिविर का उद्घघाटन करते हुए प्रदेश पासवा अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे ने कहा आंख शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है इसकी रक्षा आपकी सबसे बड़ी जिम्मेदारी है और उन्होंने जांच शिविर में आये लोगों से निवेदन किया कि आप नेत्रदान करें ताकि आपके जाने के बाद भी आपके आंखों से दूसरों को रोशनी मिल सके।आलोक दूबे ने कहा जांच के दौरान जिन लोगों को भी मोतियाबिंद होंगे संस्था द्वारा उनका ऑपरेशन कराया जाएगा और उनका इलाज करके वापस घर तक पहुंचाने की भी जिम्मेदारी रहेगी। आलोक दूबे ने कहा निजी विद्यालय पठन-पाठन के साथ-साथ सामाजिक कार्यों में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेती है,उन्होंने सरकार से अनुरोध किया किशोरों के टीकाकरण को शत प्रतिशत अगर सफल बनाना है तो पासवा अपने निजी विद्यालयों के साथ मिलकर सहयोग करने को तैयार है।
प्रदेश पासवा उपाध्यक्ष अरविंद कुमार ने कहा हम गैर मान्यता विद्यालय के संचालक है जो बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देते हैं,भले ही हम़े अच्छे नजरिये से लोग नहीं देखते हैं, एक तरफ बड़े-बड़े मान्यता प्राप्त स्कूल हैं जहां सबका नामांकन संभव नहीं है तो दूसरी तरफ सरकारी विद्यालय हैं जहां लोग बच्चों को पढ़ाना नहीं चाहते हैं लेकिन हमारा सीधा संबंध मध्यमवर्गीय, निम्न मध्यमवर्गीय एवं गरीब परिवार से होता है,लोग हमारे ऊपर में भरोसा करते हैं।हमें गर्व है कि हम जैसे छोटे स्कूलों की आवाज पासवा अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे बन गये हैं और उनके नेतृत्व में निजी विद्यालयों की गौरवशाली सेवा भावना को सरकार के समक्ष पूरी ताकत के साथ रख रहे हैं। निजी विद्यालयों को यह उम्मीद है के आलोक दुबे के नेतृत्व में सरकार जल्द ही हमारे विद्यालय खोलेगी और हमें आर्थिक विशेष पैकेज देने का काम करेगी।
इसके पूर्व कार्यक्रम के आयोजक सह आदर्श ग्रामीण पब्लिक स्कूल बिजुपाड़ा के संचालक अमीन अंसारी ने अतिथियों का स्वागत किया एवं अपने संबोधन में कहा छोटे से उम्र में मेरे पिताजी का साया उठ गया लेकिन गरीबी में मैंने अपनी पढ़ाई की और आज स्कूल चला रहा हूँ, इस इलाके के लोगों का आशीर्वाद और भरोसा है और बच्चे यहां पढ़ने आते हैं।इस मौके पर चान्हो प्रखंड के निजी विद्यालयों के सभी संचालक भी मौजूद थे,जिसमे मांडर निजी विद्यालय के संचालक आलोक विपिन टोप्पो, वीर बुधु भगत सिलागाईं स्कूल संचालक प्रदीप उराँव,लिटिल फ्लावर स्कूल सिलागाईं प्रभाकर कुजूर, बड़गांव निजी विद्यालय संचालक मुजाहिद इस्लाम,बगरू पहाड़ नीचे स्कूल संचालक गिदयोन फ्रांसिस एक्का, बिरसा मुंडा स्कूल बिजुपाड़ा सुभाष कुमार, स्टार पब्लिक स्कूल विनोद कुमार गोफ,स्टार पब्लिक स्कूल मांडर ऋषिकेश, बड़गाईं पब्लिक स्कूल इस्मत इस्लाम,युसूफ अंसारी ने भी अपने विचार रखे।
शिविर उद्घघाटन के उपरांत चान्हों प्रखंड के निजी विद्यालयों के साथ पासवा अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे की एक बैठक भी हुई जिसमें निजी विद्यालय संचालकों ने अपनी परेशानियों को साझा किया एवं कहा कि पिछले 2 वर्षों में जब स्कूल बंद थे हमारे स्कूलों में एक भी फीस अभिभावकों ने हमें नहीं दिया लेकिन इसके बावजूद हम पठन-पाठन का काम निरंतर जारी रखे हुए हैं, उन्होंने कहा कि स्कूलों बंद होने से शिक्षकों एवं कर्मचारियों को तनख्वाह देना बहुत मुश्किल हो गया है और बच्चों की पढ़ाई पूरी तरह से बंद हो गई है,इसलिए पासवा अध्यक्ष सरकार से बात करें और निजी स्कूलों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने की दिशा में प्रयास करें।

%d bloggers like this: