अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पंचायत चुनाव : आचार संहिता का कड़ाई से हो पालन, बर्दाश्त नहीं की जाएगी लापरवाही


बेगूसराय:- बेगूसराय में दूसरे चरण से लेकर 11 वें चरण तक होने वाले पंचायत चुनाव की प्रशासनिक तैयारी काफी तेज हो गई है। छह सितम्बर को सूचना जारी होने के बाद सात से नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी। इसके मद्देनजर प्रशासन लगातार बैठक कर विभिन्न कोषांग की समीक्षा और तैयारी को अंतिम रूप दे रहा है। डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने चुनाव के सफल संपादन के लिए जिला स्तर पर गठित विभिन्न कोषांगों के कार्यों की विस्तारपूर्वक समीक्षा किया। इस दौरान आचार संहिता कोषांग के प्रतिवेदन शून्य रहने पर खेद जताते हुए आदेश का कड़ाईपूर्वक पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। समीक्षा में डीएम ने सभी कोषांगों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी एवं नोडल पदाधिकारी को अपने-अपने कोषांगों से संबंधित कार्यों को गंभीरता से करने का निर्देश दिया तथा कहा कि निर्वाचन कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पंचायत आम निर्वाचन-2021 को स्वच्छ, निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से संपादन के लिए आवश्यक है कि राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का ससमय अनुपालन हो। डीएम ने बताया कि चुनाव प्रक्रिया के लिए 19 हजार 803 कर्मियों को प्रथम नियुक्ति पत्र निर्गत किया गया है तथा तीन से 15 सितम्बर के दौरान बी.पी. हाई स्कूल, ओमर बालिका उच्च विद्यालय एवं बी.एस.एस.कॉलेजिएट विद्यालय में प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान पर्याप्त संख्या में प्रशिक्षण सामग्री, कोविड के मद्देनजर आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ-साथ प्रशिक्षण स्थलों पर साफ-सफाई, स्वच्छ पेयजल आदि की समुचित व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है। आदर्श आचार संहिता से संबंधित अब तक शून्य प्रतिवेदन दुखद है। कोषांग के नोडल पदाधिकारी अधिसूचना जारी होने के बाद आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के संबंध में की गई कार्रवाई के लिए सभी एसडीओ, डीएसपी, बीडीओ, सीओ एवं थाना प्रभारी को आवश्यक कार्रवाई करने तथा प्रतिवेदन भेजने के लिए निर्देशित करें। राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशों तथा आदर्श आचार संहिता संबंधी दिशा-निर्देशों के सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराने के लिए एफएसटी एवं एसएसटी का गठन करें। वज्रगृह प्रबंधन कोषांग के वरीय प्रभारी पदाधिकारी अविलंब स्थल के चयन करने के साथ-साथ उन स्थलों पर सभी आवश्यक तैयारी पूरी करें। बैठक में चुनाव के लिए ईवीएम एवं अन्य सामग्रियों के साथ-साथ पीसीसीपी डिस्पैच तथा मतगणना के लिए आवश्यक कार्रवाई के संबंध में भी व्यापक विचार-विमर्श किए गए। वाहन प्रबंधन कोषांग की समीक्षा के क्रम में निर्वाचन कार्यों में आवश्यक वाहनों का आकलन करने तथा आवश्यकतानुसार उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। इस दौरान विधि-व्यवस्था प्रबंधन कोषांग, समाग्री प्रबंधन कोषांग, ईवीएम कोषांग, मतपत्र (बैलेट पेपर) कोषांग, मीडिया कोषांग सहित अन्य कोषांगों की समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए।

%d bloggers like this: