अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मनगढ़ंत कहानियां बनाने में माहिर पाक पीएम, US ने नहीं मांगा सैन्य बेस : बिलावल

इस्लामाबाद- पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने पीएम इमरान खान पर मनगढ़ंत कहानियां बनाने का आरोप लगया है। दरअसल, इमरान खान ने दावा किया कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बीच वाशिंगटन ने युद्धग्रस्त मुल्क पर नजर रखने लिए इस्लामाबाद से एक सैन्य अड्डे का अनुरोध किया है। जरदारी ने इन दावों को खारिज करते हुए कहा कि इमरान खान के दावे झूठे हैं, क्योंकि किसी ने सरकार से ठिकानों के लिए अनुरोध नहीं किया था।
खुद से कह रहे हैं यह बातें
हवेली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बिलावल ने कहा, ‘आप सुन रहे होंगे कि अमेरिका को ठिकाने नहीं दिए जाएंगे और प्रधानमंत्री ने एक स्टैंड लिया है। आपको सच्चाई बता दें कि किसी ने उनसे पूछा तक नहीं। किसी ने उन्हें फोन नहीं किया। किसी ने उनसे सैन्य ठिकानों की मांग नहीं की। वह खुद से यह बातें कह रहे हैं।’
क्या बोले थे इमरान खान
बता दें कि, बीते महीने प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि पाकिस्तान अफगानिस्तान के अंदर किसी भी प्रकार की कार्रवाई के लिए अमेरिका को कोई बेस बनाने और अपने क्षेत्र का उपयोग करने की अनुमति बिल्कुल नहीं देगा। हम किसी ठिकाने बनाने की अनुमति नहीं देंगे।अफगानिस्तान में किसी भी प्रकार की कार्रवाई के लिए पाकिस्तानी क्षेत्र के इस्तेमाल की अनुमति नहीं देंगे। प्रधानमंत्री के इस बयान का वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और इसे गवर्मेंट अकाउंट्स से खूब शेयर किया गया।
वाशिंगटन के खिलाफ रुख अपनाया था
बिलावल ने अपने भाषण में कहा कि पूर्व सैन्य तानाशाह सेवानिवृत्त जनरल परवेज मुशर्रफ ने अमेरिका को ठिकाने मुहैया कराए थे और पीपीपी ने उन्हें बंद किया था। बिलावल ने दावा किया कि केवल पीपीपी ने ही अपने कार्यकाल के दौरान वाशिंगटन के खिलाफ रुख अपनाया था और ठिकानों को बंद कर दिया था । उन्होंने 2011 की सलाला घटना को याद करते हुए कहा कि उस समय की संसद ने अमेरिकी ठिकानों को बंद करने और नाटो आपूर्ति लाइनों को बंद करने के बारे में एक स्टैंड लिया था, जब तक कि अमेरिका ने पाकिस्तानी सैनिकों की मौत के लिए माफी नहीं मांगी।

%d bloggers like this: