अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करने के उद्देश्य से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का किया जायेगा उपयोगः- हफीजुल हसन


देवघर:- अल्पसंख्यक, कल्याण तथा पर्यटन, कला संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा कार्य मंत्री हफीजुल हसन द्वारा 100 ऑक्सिजन कंसंट्रेटर का वितरण सदर अस्पताल देवघर में किया गया। इस दौरान मंत्री द्वारा जानकारी दी गयी कि स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करने के उदेश्य से 100 ऑक्सिजन कंसंट्रेटर में से 50 देवघर अनुमंडल के लिए एवं 50 मधुपुर अनुमंडल के लिए है। आगे उन्होंने कहाँ की एक्शन ऐड संस्था द्वारा दिया गया 100 ऑक्सिजन कंसंट्रेटर वर्तमान कोविड महामारी के दौर में जिलावासियों के लिए काफी मददगार साबित होगा। ऐसे में कोरोना के बीते दो लहर के दौरान ऑक्सिजन की समस्या को इस कंसंट्रेटर के माध्यम से दूर कर सकते हैं। साथ हीं इस वैश्विक आपदा के समय में एक्शन ऐड संस्था द्वारा 100 ऑक्सिजन कंसंट्रेटर दान में देना एक सराहनीय और अनुकरणीय कार्य है। इस ऑक्सिजन कंसंट्रेटर की मदद से कोविड-19 महामारी के संभावित तीसरे लहर से लड़ने में देवघर जिले को काफी मदद मिलेगी।
इसके अलावे मंत्री निबंधन, अल्पसंख्यक, कल्याण तथा पर्यटन, कला संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा कार्य विभाग हफीजुल हसन द्वारा ऑक्सिजन कंसंट्रेटर के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह एक ऐसा उपकरण है जिसके माध्यम से हवा में मौजूद अन्य गैस से ऑक्सीजन को फिल्टर करता हुए मरीजो को उपलब्ध कराई जाता है। आगे उन्होंने कहा कि हवा में तीन प्रकार की गैस मौजूद है, जिसमें करीबन 78 प्रतिशत नाइट्रोजन और 21 प्रतिशत ऑक्सीजन शामिल है और 1 प्रतिशत अन्य गैसें हैं। ऐसे में हमें शुद्ध ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए अन्य अशुद्धियों के साथ नाइट्रोजन खत्म करने की जरूरत होती है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर में एक मोटर होती है, जिसकी मदद से यह कमरे से हवा ग्रहण करता है और उसे फिल्टर के जरिए आगे भेजता है। फिर हवा को गर्म करता है और नाइट्रोजन को खत्म करता है। इसके उपरांत ऑक्सीजन कंप्रेस होती है, फिर साफ पानी से होकर गुजरती है और आखिर में सांस लेने के लिए उपलब्ध होती है। इसे आप एक प्रकार का एयर प्यूरिफायर समझ सकते हैं, जिसमें कम्प्रेसर, मोटर्स, प्रेशर रेगुलेटर्स, हीट एक्सचेंजर और अन्य कंपोनेंट मौजूद हैं।
कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने एक्शन ऐड संस्था के कार्यों की सराहना करते हुए उनका आभार प्रकट किया। साथ ही वर्तमान में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के उपयोग और संभावित तीसरी लहर को लेकर इसके उपयोग और रखरखाव को लेकर संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया।इस दौरान उपरोक्त के अलावे सिविल सर्जन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

%d bloggers like this: