अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

औवैसी का विवादित बयान, बोले- 18 साल की उम्र में सेक्शुअल रिलेशनशिप ठीक, लेकिन शादी नहीं कर सकते


मेरठ:- शादी की उम्र 18 की बजाए 21 वर्ष किए जाने की कवायद पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने विवादित बयान दिया है। ओवैसी ने कहा कि 18 साल में लोग मोदी को वोट दे सकते हैं, लेकिन शादी नहीं कर सकते। ओवैसी ने कहा कि सेक्शुअल रिलेशनशिप हो सकते है, शादी नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि इस्लाम में तो जब तक बेटी राज़ी नहीं होती, शादी नहीं होती। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कई देशों में तो 14, 16 की उम्र में ही शादियां हो जाती हैं। यही नहीं जनसंख्या नियंत्रण को लेकर भी ओवैसी ने कहा कि बनाओ दो बच्चे का कानून हम देखते हैं।
ओवैसी ने कहा कि मोदी जी ने औरंगज़ेब और शिवाजी का ज़िक्र काशी में किया। उन्होंने बार बार ज़ोर देकर कहा कि शिवाजी मुसलमानों के खिलाफ नहीं थे। अपने ही अंदाज़ में ओवैसी ने कहा कि हम वज़ीरे आज़म से पूछना चाहते हैं। क्या ज्ञानव्यापी मस्जिद को मोदी सरकार ख़ूबसूरत नहीं बना सकती। क्या अजमेर की दरगाह को खूबसूरत नहीं बनाया जा सकता। दिल्ली की जामा मस्जिद का पुननिर्माण नहीं कर सकती। मथुरा की मस्जिद को सुधारा नहीं जा सकता। एआईएमआईएम प्रमुख ने मलियाना हाशिमपुरा कांड का ज़िक्र करते हुए कहा कि आपको सियासी ताक़त बनना पड़ेगा। असदुद्दीन ने कहा कि सपा, बसपा वाले कहेंगे कि शेरवानी पहने लंबे आदमी पर यकीन ना करो, लेकिन मुजफ्फरनगर के फसाद का क्या अखिलेश हिसाब दे पाए। जनता की राजीतिक नब्ज़ टटोलते एआईएमआईएम के मुखिया ने कहा कि मैं कोई शायर नहीं कि आप बस वाह वाह करो। करवट बदलो। आपको अपना नेता पैदा करना पड़ेगा। उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश पर शब्दों का हमला करते हुए कहा कि वो कहते हैं कि हमको वोट दे दो लेकिन जब सीएए की बात होती है तो बहरे हो जाते हैं।

%d bloggers like this: