अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए विशेष टीकाकरण कैम्प का आयोजन

ट्रांसजेडर समुदाय ने अपनी समस्याओं से कराया अवगत, जिला उपायुक्त ने यथोचित कार्रवाई का दिया आश्वासन

जमशेदपुर:- समाहरणालय परिसर स्थित आईटीडीए भवन सभागार में आज ट्रांसजेडर समुदाय के लिए विशेष कोविड टीकाकरण कैम्प का आयोजन किया गया । जिला उपायुक्त सूरज कुमार की पहल पर आयोजित इस शिविर को लेकर ट्रांसजेडर समुदाय के प्रतिनिधियों ने जिला प्रशासन को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि काफी संवेदनशील होकर जिला उपायुक्त ने कोविड टीका लेने को लेकर उनकी परेशानियों को समझा एवं आज टीका उपलब्ध कराया गया । इस मौके पर ट्रांसजेडर समुदाय की अन्य समस्याओं जैसे पेंशन, राशन कार्ड, आवास आदि से जिला उपायुक्त को अवगत कराया गया जिसपर उन्होनें यथोचित कार्रवाई सुनिश्चित करने को लेकर उन्हें आश्वस्त किया ।
जिला उपायुक्त सूरज कुमार ने इस मौके पर कहा कि भारतीय संविधान के मुताबिक केन्द्र एवं राज्य सरकार समावेशी नीति पर काम करती है । इसके तहत समाज के हरेक वर्ग को बराबरी का महत्व दिया जाता है । उन्होने बताया कि किन्नर समुदाय के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात कर टीकाकरण के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग में आ रही परेशानियों से अवगत कराया था । किन्नर समुदाय के लोगों में तकनीकि जानकारी का अभाव एवं पर्याप्त संख्या में स्मार्ट फोन की कमी के कारण ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग में समस्या आ रही थी तथा इस वर्ग का पब्लिक इंटरैक्शन भी ज्यादा है जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने निर्णय लिया की किन्नर समुदाय के लिए विशेष कैम्प लगातर टीकाकरण से आच्छादित किया जाएगा ताकि समावेशी व्यवस्थायें को प्रतिमूर्ति के रूप में स्थापित किया जा सके ।
जिला उपायुक्त ने बताया कि किन्नर समुदाय के सामने आने वाली अन्य समस्याओं से भी वे अवगत हुए । किन्नर समुदाय ने सामुदायिक भवन बनाने की मांग रखी जिसपर जिला उपायुक्त ने जल्द ही इसे मूर्त रूप देने को लेकर आश्वस्त किया । साथ ही साथ पेंशन एवं राशन कार्ड से वंचित इस समुदाय के लोगों को इसका लाभ देने के लिए जिला उपायुक्त ने कैम्प लगाकर आच्छादित करने की बात कही । उन्होने बताया कि कैम्प लगाकर एक-दो दिनों के भीतर ही समस्त जनों तक पेंशन- राशन का लाभ पहुंचायेंगे । वहीं आवास उपलब्ध कराने को लेकर कहा कि कुछ अन्य राज्यो में जहां इस समुदाय को आवास उपलब्ध कराया गया है वहां की नीतियों को देखते हुए इनकी आवाज को पूर्वी सिंहभूम जिला से सक्षम उच्च अधिकारी तक पहुंचाएंगे ।
जिला उपायुक्त ने बताया कि किन्नर समुदाय के जीविकोपार्जन के लिए इस समुदाय के पढ़े लिखे लोगों को नौकरियों में भागीदारी के लिए सक्षम अधिकारी से बातचीत करने के साथ-साथ अशिक्षित लोगों के लिए भी जिले के बुद्धिजीवी वर्ग, औद्योगिक क्षेत्र या होटल व्यवसाय आदि से जुड़े लोगों से बातचीत कर रहे हैं ताकि इनके लिए भी रोजगार के अवसर उपलब्ध हो एवं समाज में इनका समावेशन हो सके । साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र, हॉस्पिटल आदि में पुरूष, महिला के अतिरिक्त ट्रांसजेंडर के लिए अलग कतार व्यवस्था पर भी जिला प्रशासन संवेदनशील होकर विचार कर रही है । वहीं खुशियों के मौके पर किन्नर समुदाय द्वारा किए जाने वाली रस्म अदायगी को लेकर कई जगहों(फ्लैट, अपार्टमेंट) पर जाने से रोका जाता है, इस समस्या को लेकर जिला उपायुक्त ने आश्वस्त किया कि निश्चित ही समाज के अन्य वर्ग के साथ इसके लिए गोष्ठी एवं वार्तालाप होनी चाहिए तभी इसका समावेशी समाधान निकल पायेगा । स्कूल एवं कॉलेज में एडमिशन से जुड़ी समस्याओं को लेकर जिला उपायुक्त ने कहा कि इस दिशा में कॉलेज व स्कूल प्रबंधन के साथ बैठक कर भावनओं से अवगत करायेंगे । जिला उपायुक्त ने ना सिर्फ जिला एवं राज्यवासी बल्कि समस्त देश वासियों से अपील करते हुए कहा कि किन्नर समुदाय से भेदभाव नहीं करें, हर अपेक्षित सहयोग इन्हें दें तभी जाकर हम इनके भविष्य को संवारते हुए बेहतर भारत बना पायेंगे ।
इस अवसर पर एसडीएम धालभूम सह वैक्सीनेशन कोषांग के प्रभारी संदीप कुमार मीणा, वैक्सीनेशन कोषांग के नोडल सह जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री राजीव रंजन, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी श्री रोहित कुमार मौजूद रहे ।

%d bloggers like this: