अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कृषि आयात-निर्यात प्रबंधन के लिए शुरू हुआ ऑनलाइन सर्टिफिकेट कार्यक्रम


नयी दिल्ली:- भारतीय विदेश व्यापार संस्थान (आईआईएफटी) और भारतीय व्यापार संवर्द्धन परिषद (टीपीसीआई) ने कृषि आयात एवं निर्यात प्रबंधन के लिए छह महीने का ऑनलाइन सर्टिफिकेट कार्यक्रम शुरू किया है।
आईआईएफटी के कुलपति प्रो. मनोज पंत ने बुधवार को इस सर्टिफिकेट कार्यक्रम को लॉन्च करते हुए कहा, “कई संरचनात्मक चुनौतियों का सामना करने और कृषि उत्पाद बाजार के उपलब्ध अवसरों का लाभ उठाने के लिए इस छह महीने के ऑनलाइन सर्टिफिकेट कार्यक्रम को शुरू किया गया है। इसके लिए आईआईएफटी को टीपीसीआई के साथ करार करने की खुशी है।”
श्री पंत ने कहा कि इस सर्टिफिकेट कार्यक्रम को कृषि कारोबारियों को सूचना, ज्ञान और कौशल के जरिये कुशल बनाने के लिए विशिष्ट रूप से डिजाइन किया गया है ताकि वे अंतर्राष्ट्रीय कृषि उत्पाद कारोबार में शामिल होने के योग्य बन सकें। उन्होंने कहा कि कोविड19 की दुश्वारियों के चलते अर्थव्यवस्था के कई क्षेत्रों में सुस्ती आ गई लेकिन इस विषम परिस्थिति में भी कृषि उत्पाद क्षेत्र में तेजी बनी रही।
आईआईएफटी के कुलपति ने कहा यह आश्चर्यजनक है कि वित्त वर्ष 2020-21 में देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में कृषि क्षेत्र का योगदान 19.9 प्रतिशत तक बढ़ा। इसी तरह कुल रोजगार के अवसरों में इस क्षेत्र की हिस्सेदारी में 15.9 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इसकी बदौलत देश का कृषिगत निर्यात तेज रहा है। महामारी के बावजूद कृषि क्षेत्र में कारोबार के अधिशेष में 42.16 प्रतिशत का सुधार हुआ है।
टीपीसीआई फूड एंड बेवरेजेज समिति के अध्यक्ष विवेक अग्रवाल ने कहा कि कृषि आयात-निर्यात प्रबंधन के लिए शुरू किये गये इस सर्टिफिकेट कार्यक्रम से मौजूदा कृषि उद्यमियों एवं प्रबंधकों को काफी लाभ होगा। उन्होंने कहा कि कृषि उत्पाद एक सुरक्षित उद्योग है और कोरोना महामारी के बावजूद देश का कृषिगत निर्यात वित्त वर्ष 2020-21 में 17.34 प्रतिशत बढ़कर 41.25 अरब डॉलर पर पहुंच गया है।

%d bloggers like this: