अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सामान्य बीमा कंपनियों के कर्मियों ने औरंगाबाद में की एक दिवसीय हड़ताल


औरंगाबाद:- सामान्य बीमा कर्मचारियों के संघ की एक दिन की देशव्यापी हड़ताल के आह्वान पर औरंगाबाद में सभी सामान्य बीमा कंपनियों के कर्मचारियों ने नरेंद्र मोदी सरकार के विरोध में बुधवार को एक दिवसीय हड़ताल की। केन्द्र सरकार ने दो अगस्त को सामान्य बीमा उद्योग राष्ट्रीयकरण अधिनियम, 1972 में संशोधन करने वाला एक विधेयक संसद में पारित किया था जिससे सामान्य बीमा कंपनियों में विदेशी निवेश का दरवाजा खुल गया है, जो भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक हो सकता है। ट्रेड यूनियनों के संयुक्त मंच और इंडिया एसोसिएशन के सामान्य बीमा कर्मचारी, मुंबई के बैनर तले औरंगाबाद में हड़ताल किया गया। कर्मचारी नेताओं ने इस निर्णय के परिणाम स्वरूप, सरकार भारतीय सामान्य बीमा उद्योग को समाप्त करने के लिए इच्छुक है। इसी संदर्भ में मंगलवार को दोपहर में भोजन के समय जनरल इंश्योरेंस कंपनी के सभी कर्मचारियों ने कोविड-19 के सभी नियमों का पालन करते हुए एक बैठक की और एक साथ आकर उस्मानपुरा स्थित यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी के परिसर में अपना विरोध व्यक्त किया और निर्णय लिया कि बुधवार को दिनभर की हड़ताल पर जायेंगे। इस बैठक में चंदन सिंह परदेशी, विशाल वानखेड़े, उदय नागपुरकर, भरत पवार, बाजीराव कामत, सुनील कांत और मनोज पेंढारकर मौजूद थे। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इस हड़ताल से सरकार की आंखें खुलेंगी और सामान्य बीमा कंपनियों के खिलाफ लिए गए फैसले को ठीक किया जायेगा। बीमा कंपनियां हमेशा भारतीय लोगों के हित में रही हैं तथा उनके कठिन समय में उपयोगी साबित हुई हैं और हमेशा भारतीय अर्थव्यवस्था में योगदान दिया है।

%d bloggers like this: