अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

रिम्स में आउटसोर्स पर कार्यरत नर्सों का सीएम आवास घेराव का प्रयास


रांची:- राजधानी रांची के रिम्स में आउटसोर्स कंपनी के तहत काम करने वाली नर्सां ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास घेराव करने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें मोरहाबादी मैदान के पास ही पुलिस ने रोक दिया। रिम्स में आउटसोर्सिंग कंपनी के माध्यम से कार्यरत इन नर्सा ने सेवा समाप्त किये जाने के विरोध में प्रदर्शन किया।
प्रदर्शनकारी नर्सां ने बताया कि कोरोना के दौरान उन लोगों से सेवा लिया गया है और अब उन्हें काम से हटाया जा रहा है। साथ ही संकटकाल के दौरान किये गये काम का अब तक वेतन का भुगतान भी नहीं किया गया है। वेअपनी समस्याओं को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के पास रखने के लिए जाना चाहती है।
वहीं आंदोलनरत पुलिस कर्मियों का कहना है कि सभी नर्सें रिम्स से निकलकर मोरहाबादी के रास्ते मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने पहुंची है। कोरोना गाइडलाइन की वजह से लोगों ने इन्हें रोका है। इनकी जो मांग है उसे आगे पहुंचाने का काम किया जा रहा है।
गौरतलब है कि कोरोना काल के दौरान एनएचएम के सौजन्य से विज्ञापन निकाला गया था। मैन पावर की सप्लाई का जिम्मा टी एंड एम सर्विसेज कंसलटिंग लिमिटेड को दिया गया था। कंपनी के माध्यम से रिम्स में 749 लोगों को नियुक्त किया गया था। इनमें स्टाफ नर्स (ग्रेड-ए), मल्टी परपस वर्कर, एनस्थीसिया टेक्निशियन, लैब टेक्नीशियन, स्वीपर और सिक्योरिटी गार्ड की नियुक्ति हुई थी। कार्य आदेश(वर्क आर्डर) में अंकित था कि इन्हें न्यूनतम तीन माह और अधिकतम एक साल तक के लिए काम पर रखा जाएगा। इनकी सेवा की अवधि 10 अगस्त को खत्म हो रही है। रिम्स चिकित्सा अधीक्षक की ओर से सेवा समाप्ति को लेकर पत्र जारी किया गया है । इससे नाराज आउट सोर्सिंग कर्मियों ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने का निर्णय लिया था ।

%d bloggers like this: