अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मैट्रिक-इंटर में 90प्रतिशत अंक पाने वाले छात्रों की संख्या डेढ़ गुना बढे


रांची:- कोरोना संकट के कारण इस वर्ष परीक्षा नहीं हुई। छात्रों को प्रमोट करने के लिए पिछले प्रदर्शन के आधार पर मार्किंग की गई। जिसके बाद सीबीएसई, जैक बोर्ड समेत अन्य बोर्ड के 10वीं व 12वीं के परिणाम में इस साल 90प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले स्टूडेंट्स की संख्या में वृद्धि हुई। इससे कम अंक पाने वाले छात्रों का कॉलेज में एडमिशन में परेशानी हो रही है। छात्रों को मिले अंकों के कारण इंटर व स्नातक स्तरीय कोर्सों में कट ऑफ मार्क्स अधिक रहना तय है। उच्च शिक्षण संस्थानों द्वारा जारी पहले कटऑफ मार्क्स से इस बार इच्छा के अनुसार कॉलेज और स्ट्रीम में एडमिशन उन्हीं को मिल पाएगा।
जिनका अंक 90 प्रतिशत के आसपास है। इंटर और स्नातक कोर्सेस में एडमिशन पर नजर रख रहे विवि अधिकारियों व प्रिंसिपल का कहना है कि 90प्रतिशत से अधिक अंक पाने वालों का आंकड़ा गत वर्ष से दोगुने से भी अधिक है। जैक बोर्ड से इस साल मैट्रिक में 95ः स्टूडेंट्स पास हुए हैं। वहीं इंटर तीनों स्ट्रीम में 89प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं। इसलिए गत वर्ष की अपेक्षा प्रिमियर कॉलेजों का कट ऑफ 5ः अधिक है।

%d bloggers like this: