January 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अब ठाकुरगंज के रास्ते चलेगी केपिटल एक्सप्रेस, रेलवे बोर्ड ने दी मंजूरी

ठाकुरगंज(किशनगंज):- अपने हक के लिए वर्षों से आर पार की रेलवे के साथ लड़ाई लड़ रहे सीमांचल वासियों के लिए दो अगस्त का दिन काफी यादगार दिनों में से एक बनकर सामने आया है , इस बाबत बताते चले की सिलीगुड़ी अलुआबाड़ी रोड भया ठाकुरगंज , बाग डोगरा रेल सेक्शन के आमान परिवर्तन कार्य के पूर्ण होने के करीब 9 साल बाद रेलवे बोर्ड ने अब ठाकुरगंज होते हुए 13245/46 न्यूजलपाईगुड़ी-राजेन्द्र नगर कैपिटल एक्सप्रेस तथा 13247/48 कामाख्या-राजेन्द्र नगर कैपिटल एक्सप्रेस के बागडोगरा-ठाकुरगंज के रास्ते परिचालन को मंजूरी दी है। रेलवे बोर्ड के कोचिंग निदेशालय ने एक सर्कुलर जारी कर इसकी जानकारी दी है। विगत दिनों रेलवे बोर्ड ने महानंदा एक्सप्रेस तथा कंचनकन्या एक्सप्रेस के सिलीगुड़ी-ठाकुरगंज के रास्ते डायवर्जन को भी मंजूरी दी थी। इस बारे में जानकारी देते हुए एनएफ रेलवे के सीपीआरओ सुभानन चंदा ने बताया कि फरवरी माह में बेंगलुरु में इंडियन रेलवे ट्रेन टाइमिंग कमिटी की बैठक हुई थी जिसमे एनएफ रेलवे ज़ोन के कटिहार डिवीज़न की ओर से 13149/50 अलीपुरद्वार-सियालदह कंचनकन्या एक्सप्रेस तथा 15483/84 अलीपुरद्वार-दिल्ली सिक्किम महानंदा एक्सप्रेस को सिलीगुड़ी जंक्शन- बागडोगरा- ठाकुरगंज के रास्ते परिचालित करने के प्रस्ताव भेजे गए थे। बाद में 13245-48 कैपिटल एक्सप्रेस के डायवर्जन का प्रस्ताव भी बोर्ड के समक्ष आया जिन्हें बोर्ड ने स्वीकार कर लिया है। सनद रहे कि आमतौर पर जुलाई में लागू होने वाली टाइम टेबल इस वर्ष अक्टूबर में लागू हो सकती है। रेलवे बोर्ड के कोचिंग निदेशालय के एक अधिकारी के मुताबिक जीरो बेस्ड टाइम टेबल पूरी तरह तैयार है लेकिन कोरोना से जुड़ी अनिश्चितता को देखते हुए इसके लागू करने की तिथि की घोषणा नही की जा रही है। उन्होंने बताया की जीरो बेस्ड टाइम टेबल में सभी ट्रेनों के समय, रुट, ठहरावों व आय की समीक्षा की गयी है। नई टाइम टेबल में काफी बदलाव देखने को मिलेंगे। नए टाइम टेबल में महानन्दा एक्सप्रेस, कंचनकन्या एक्सप्रेस तथा कैपिटल एक्सप्रेस के स्थायी वाणिज्यिक ठहराव ठाकुरगंज और बागडोगरा स्टेशनों पर भी दिए गए है।बताते चले कि वर्ष 2012 से ही विभिन्न बैनर तले ठाकुरगंज के रेल यात्रियों ने धरना, प्रदर्शन, अनशन के रूप में आंदोलन जारी किया था ।जो पिछले वर्ष 16 जनवरी से 19 जनवरी के बीच स्टेशन परिसर पर ‘ठाकुरगंज रेल यात्री समिति’ के बैनर चले अनशन के भारी दबाव के बीच रेलवे प्रशासन ने आनन-फानन में सभी निरस्त लोकल ट्रेनो का परिचालन पुनः शुरू कर दिया तथा चेन्नई एक्सप्रेस एवं पहाड़िया एक्सप्रेस का ठहराव ट्रायल बेसिस पर तत्काल प्रभाव से देना आरम्भ किया था। इस दौरान कुल 9 लोग आमरण अनशन पर भी बैठे थे। तत्कालीन केंद्रीय मंत्री एसएस अहलूवालिया ने जूस पिलाकर अनशन समाप्त करवाया था और मांगी गयी ट्रेनों के ठाकुरगंज ठहराव का आश्वासन दिया था। इस बाबत ठाकुरगंज रेल यात्री समिति के संयोजक सिकंदर पटेल व अध्यक्ष बच्छराज नखत ने बताया कि पिछले वर्ष हुआ अभूतपूर्व अनशन कैपिटल एक्सप्रेस मिलने के बाद पूरी तरह सफल हुआ है। उन्होंने बताया कि अनशन के बाद भी समिति की कोर टीम लगातार कटिहार डिवीज़न के कार्यालय से लेकर रेलवे बोर्ड, दिल्ली तक अधिकारियों पर उचित कार्रवाई करने का दबाव बना रही थी। लॉक डाउन के कारण काम कुछ दिन थम गया लेकिन सकारात्मक नतीजा अब सामने है। उन्होंने कहा की यह सीधे तौर पर जनांदोलन की जीत है इसमें किसी को संशय नही होना चाहिए। बहरहाल रेलवे द्वारा जारी इस खबर को लेकर स्थानीय लोगो मे उत्साह की लहर व्याप्त है ।

संवाददाता पाण्डव

Recent Posts

%d bloggers like this: