April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अब छात्र-छात्राओं को मिलेंगे सिले-सिलाए पोशाक, मंत्रिपरिषद की बैठक में प्रस्ताव को मिली स्वीकृति

पटना:- बिहार में अब बारहवीं कक्षा तक के छात्र-छात्राओं को जीविका दीदियों के बनाए गए पोशाक दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई मंत्रीपरिषद की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई है।
सरकार के इस फैसले के तहत पहली से 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को अब उद्योग विभाग की ग्रमीण जीविकोपार्जन प्रोत्साहन समिति के तहत उद्यमिता विकास संगठन से संबद्ध क्लस्टर के माध्यम से अगले सत्र से दो सेट सिले-सिलाए पोशाक दिए जाएंगे। सरकार ने आदेश दिया है कि जीविका दीदीयों के बनाए गए पोशाक ही लेने होंगे। जो भी एजेंसी पोशाक की सप्लाई सरकारी विद्यालयों में करेगी, उनके लिए अनिवार्य होगा कि जीविका दीदी से बनाए हुए ड्रेस ही खरीदें। बिहार के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को मुख्यमंत्री बालिका, बालक पोशाक योजना के तहत प्रति वर्ष 2 पोशाक देने का प्रावधान है। पोशाक योजना के लिए मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना, मुख्यमंत्री शताब्दी पोशाक योजना संचालित है। वहीं बैठक में आतंकवादी, नक्सली हिंसा और दंगे में मारे जाने वाले व्यक्ति के परिजनों को पांच लाख रुपये का अनुदान अब किस्तों में दिए जाने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत अनुदान की 50 प्रतिशत राशि परिजन के बचत खाते में सीधा जमा होगी जबकि शेष राशि सावधि खाते में जमा की जाएगी। बिहार पुलिस सेवा की सीधी भर्तियों में न्यूनतम उम्र 20 से बढ़ाकर 21 वर्ष करने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई है। केंद्र सरकार के इंडिया रिजर्व पैटर्न पर अतिरिक्त आईआर बटालियन के पदों के नए नाम निर्धारित करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई। बता दें कि मंत्रिपरिषद की बैठक में मंगलवार को कुल 18 प्रस्ताव स्वीकृत किए गए हैं।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: