April 15, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव को लेकर अधिसूचना

कोलकाता:- चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के तहत 30 सीटों पर होने वाले चुनावों के लिए शुक्रवार को अधिसूचना जारी कर दी।
राज्य में विभिन्न चरणोें में कराये जा रहे इस चुनाव के दूसरे चरण में राज्य के चार जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर चुनाव कराये जाने हैं। इन जिलाें में बांकुरा -दाे, पूर्वी मिदनापुर-दो , पश्चिमी मिदनापुर- दो और दक्षिण 24 परगना भी इसमें शामिल किया गया था।
अधिसूचना जारी होने के बाद उम्मीदवारों की ओर से नामांकन की प्रक्रिया भी शुरु हो गयी है।
दूसरे चरण में तीस विधानसभा क्षेत्रों में गोसाबा (सुरक्षित), पथप्रतिमा-काकद्वीप सागर, तमलुक, पंसकुरा गुरबा,पंसकुरा पस्चिम, मोयना, नंदकुमार, महिसाडल, हल्दिया (सु), नंदीग्राम, चांदीपुर, खड़गपुर सदर, नारायणगढ़, सबंग, पिंगला, डेबरा, दासपुर, भटाल (सु.), चंद्रकोणा (सु.) केशपुर (सु.), तालडांग, बांकुरा, बरजोरा, ओन्दा, बिष्णुपुर, कतुलपुर (सु.), सिंधु (सु.) तथा सोनमुखी (सु.) शामिल हैं।
सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की ओर से कुछ नये उम्मीदवारों को मैदान में उतारने की उम्मीद है, जबकि भारतीय जनता पार्टी लोकप्रिय चेहरों को उतारकर उन्हें कड़ी टक्कर देने की तैयारी कर रही है। वाम दलों, कांग्रेस और भारतीय धर्मनिरपेक्ष मोर्चे के नये गठबंधन की ओर से सीट-बंटवारे को अंतिम रूप देना बाकी है।
पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एरीज आफताब ने जिला चुनाव अधिकारियों को राज्य सरकार के संविदा कर्मियों को मतदान प्रक्रिया से दूर रखने के लिए लिखा है। इस बीच, सत्तारूढ़ तृणमूल ने राज्य के उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन को हटाने की मांग की है, जिसमें उनके खिलाफ पक्षपातपूर्ण और संघीय ढांचे के मानदंडों को तोड़ने का आरोप लगाया गया है। दूसरी ओर,भाजपा ने कार्यकाल खत्म होने के बाद राज्य सरकार द्वारा नगर निगमों में नियुक्त प्रशासकों को हटाने की मांग की है। कांग्रेस, वाम दलों और आईएसएफ के एकजुट मोर्चे ने आरोप लगाया कि पुलिस और प्रशासन के कुछ अधिकारियों द्वारा आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया जा रहा है। राज्य में पहले ही 118 कंपनी केंद्रीय बल बंगाल पहुंच चुके हैं और वे मतदाताओं के बीच विश्वास जगाने के लिए रूट मार्च में लगी हुई हैं। केंद्रीय बलों की 170 और कंपनियों के आठ मार्च तक राज्य में पहुंचने की उम्मीद है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव भाजपा और तृणमूल के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई बन गये हैं। दोनों दलों ने एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोलने में कोई कसर नहीं छोड़ रखी है। भाजपा राज्य में ममता नीत तृणमूल सरकार के खिलाफ चुनाव अभियान का आक्रामक प्रचार कर रही है। तृणमूल के बड़ी हस्तियों ने भाजपा से हाथ मिलाकर ममता सरकार को अपदस्थ करने की योजना बनायी है। तृणमूल के कद्दावर नेता सुवेंदु अधिकारी, राजीब बनर्जी, बैशाली डालमिया, हावड़ा के पूर्व महापौर रतिन चक्रवर्ती और अभिनेता रुद्रनील घोष जैसे नाम इस सूची में शामिल हो गये हैं। इन सभी हस्तियों ने भाजपा का दामन थाम लिया है। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित भाजपा के स्टार प्रचारक और अन्य लोग आगामी चुनावों से पहले ही राज्य में सक्रिय रूप से प्रचार कर रहे हैं।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: