January 26, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मां व पांच बेटे की मौत से परिवार सदमे में परिवार के छठे सदस्य का शव लेने वाला कोई नहीं

राँची:- कोरोना वायरस संक्रमण ने झारखंड में धनबाद जिले के कतरास में रहने वाली एक वृद्ध महिला और उसके पांच बेटों की जान ले ली। महिला और पांच बेटों की एक-एक कर मौत होने के साथ ही परिवार के अन्य सभी सदस्य होम क्वारंटाइन में है, जिसके कारण रांची के रिम्स में 19जुलाई को दम तोड़ने वाले परिवार के छठे सदस्य का कोई शव लेने अब तक नहीं आ पाया है।
करोड़पति परिवार की व्यथा ने सबको झकझोर कर रख दिया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने वृद्ध मां और पांच बेटों की मौत पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि यह खबर अत्यंत पीड़ा देने वाली है। उन्होंने सभी राज्यवासियों से अपील की है कि इस विकट संक्रमण काल को नजरअंदाज न करें। अपनी सुरक्षा के साथ-साथ, परिवार के बूढ़े-बुजुर्गां, बच्चों-बड़ों, भाई-बहनों सभी का ख्याल रखें। कोरोना की इस लड़ाई को सभी आपसी सहयोग से ही परास्त कर सकते हैं।
इस परिवार के छठे सदस्य की मौत 19 जुलाई को हुई थी, लेकिन 36घंटे से अधिक समय बीत जाने के बावजूद शव लेने कोई नहीं आ पहुंचा है। कतरास में मौजूद परिजनों का कहना है कि सभी होम क्वारंटाइन में है, प्रशासन को शव लाने और अंत्येष्टि में मदद करनी चाहिए। इससे पहले भी एक और भाई की मौत रिम्स में हुई थी। उस समय भी परिजन शव लेने नहीं पहुंचे। पांच दिन बाद जिला प्रशासन को अंतिम संस्कार करना पड़ा था।
कतरास के इस व्यवसायी परिवार की दुःखद त्रासदी की शुरुआत जून महीने में शुरू हुई, जब दिल्ली में अपने एक बेटे के साथ रहने वाली 88वर्षीय महिला शादी समारोह में हिस्सा लेने पहुंची। तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें बोकारो के निजी अस्पताल में भर्त्ती कराया गया, जहां 4जुलाई को उनकी मौत हो गयी, बाद में उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली। इसके बाद 15 दिनों में एक-एक कर पांच बेटों की मौत हो गयी। परिवार के 14 सदस्य होम क्वारंटाइन में है, जबकि शादी समारोह में शामिल हुए 70 लोगों में से कई की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट अब तक नहीं मिल पायी है।
इस करोड़पति परिवार का कतरास के अलावा धनबाद, राउरकेला, पुरुलिया और दिल्ली में व्यवसाय है। साथ ही इस परिवार के दो व्यक्ति इनकम टैक्स में वकील भी थे। कोरोना का कहर कुछ ऐसा बरपा कि पूरा परिवार खत्म हो गया। मिली जानकारी के अनुसार कतरास में एक भाई का मोबाइल पार्ट्स का होलसेल का बिजनेस है, दूसरे भाई की राउरकेला में स्पंज आयरन की फैक्ट्री है, तीसरे भाई का पुरुलिया में स्क्रैप का कारखाना है, चौथे भाई का कोयला ट्रांसपोर्टिंग का बिजनेस था और हाल में उसने कोडरमा में पत्थर क्रशर का काम शुरू किया था, जबकि एक भाई का दिल्ली में बिजनेस है।

Recent Posts

%d bloggers like this: