अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नेक नहीं ड्रैगन के इरादे! ईस्टर्न कमांड चीफ का दावा- चुम्बी वैली में कनेक्टिविटी को मजबूत कर रहा चीन


दिल्ली:- तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र (TAR) की चुंबी घाटी में चीन कनेक्टिविटी को मजबूत कर रहा है. यह भारत के लिए रणनीतिक रूप से अहम सिलिगुड़ी कॉरिडोर के नजदीक मौजूद है. चीन यहां पूरी तरह से पैर पसारने की कोशिश में है. ‘द हिंदू’ की रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे ने सिलीगुड़ी को “संवेदनशील” करार दिया.
चीन चुंबी घाटी में एक वैकल्पिक पहुंच का निर्माण कर रहा है, जो सिलीगुड़ी कॉरिडोर के नजदीक है. सूत्रों के मुताबिक वे भूटानी क्षेत्र में सड़कों का निर्माण कर रहे हैं, जिससे वहां अपनी पहुंच को और मजबूत कर सकें. इन सड़कों को सुरक्षित करने से सिलीगुड़ी कॉरिडोर पर भी दबाव बनेगा.
पेंटागन की रिपोर्ट में ये दावा
पेंटागन ने चीन के सैन्य आधुनिकीकरण पर अपनी एक प्रमुख रिपोर्ट में कहा था कि चीन भारत के साथ लगती वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपने दावे को लेकर दबाव बनाने के लिए ‘‘सतत रणनीतिक कार्रवाई’’ कर रहा है और उसने गतिरोध के दौरान और उसके बाद भी भारत को अमेरिका के साथ संबंधों को प्रगाढ़ करने से रोकने की असफल कोशिश की है.
अमेरिका ने बढ़ती चुनौती बताया
पेंटागन की यह रिपोर्ट ताइवान को लेकर अमेरिका और चीन के बीच भारी तनाव के बीच आई थी और ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष, अमेरिकी जनरल मार्क मिले की ओर से चीन की सैन्य प्रगति के संबंध में कड़ी चेतावनी जारी होने के कुछ घंटों बाद प्रकाशित हुई. पेंटागन ने चीन को अमेरिका के लिए ‘‘बढ़ती चुनौती’’ बताया.
तोरसा नदी के किनारे सड़कें
पिछले साल सामने आई हाई रिजॉल्यूशन सैटेलाइट इमेज में चीन को भूटानी इलाके से होते हुए तोरसा नदी के किनारे सड़कें बनाते हुए दिखाया गया था. एक अन्य रक्षा अधिकारी ने कहा कि सीमा समाधान के लिए अपनी बातचीत को गति देने के लिए भूटान और चीन के बीच तीन चरणों वाले रोड मैप पर हालिया समझौता ज्ञापन (एमओयू) बेहद महत्वपूर्ण रहा है. इसके पीछे भारत को लेकर चीन का कुछ हित छिपा हो सकता है.
सिलीगुड़ी कॉरिडोर क्यों अहम
पश्चिम बंगाल में स्थित सिलीगुड़ी कॉरिडोर, बांग्लादेश, भूटान और नेपाल की सीमा से लगे भूमि का एक खंड है. यह एक जगह 170X60 किमी है और सबसे कम दूरी पर करीब 20-22 किमी है. लेफ्टिनेंट जनरल पांडे ने हाल ही में कहा कि ये सिलीगुड़ी कॉरिडोर का भू-रणनीतिक महत्व भूमि का एक संकीर्ण टुकड़ा है, जो पूर्वोत्तर को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ता है. इसके जरिए प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग, रेलवे लाइन, पाइपलाइन, ऑफ-शोर केबल (ओएफसी) कनेक्टिविटी है.

%d bloggers like this: