अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अदाणी बंदरगाह पर ईरान, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आने वाले कंटेनरों को नो एंट्री


भुज:- गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर 21,000 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त होने के बाद अदाणी पोर्ट ने 15 नवंबर से ईरान, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आने वाले कंटेनरों पर रोक लगा दी है। अदाणी पोर्ट अदाणी उद्योग समूह का हिस्सा है। माना जाता है कि कंपनी ने पश्चिम गुजरात में अपने मुंद्रा बंदरगाह पर हेरोइन की बड़ी जब्ती को देखते हुए यह फैसला किया है। अदाणी समूह द्वारा संचालित गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर 13 सितंबर को दो कंटेनरों से 3,000 किलोग्राम हेरोइन जब्त की गई थी। यह ड्रग्स अफगानिस्तान से आई, जो अफीम के सबसे बड़े अवैध उत्पादकों में से एक है।
मुंद्रा बंदरगाह से 23,000 करोड़ रुपये की हेरोइन की जब्ती की जांच अब देश की सबसे प्रतिष्ठित राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दी गई है। अभी तक मामले की जांच डीआरआई कर रही थी। डीआरआई इस मामले में अब तक 10 लोगों को हिरासत में ले चुकी है। ड्रग्स का ऑर्डर देने वाले एक दंपत्ति सहित लोगों के खिलाफ एनडीपीएस का अपराध दर्ज किया गया है। गुजरात में कई बार ड्रग तस्करी के मामले सामने आ चुके हैं। लेकिन एनआईए अब सच सामने लाएगी कि मुंद्रा बंदरगाह से इतनी बड़ी मात्रा में ड्रग्स को उतारने में कौन शामिल था। अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने के बाद आतंकी फंडिंग के लिए धन जुटाने के लिए ईरान के माध्यम से भारत में ड्रग्स की तस्करी की साजिश का अनुमान लगाया जा रहा है। एनआईए ड्रग्स मामले में मुंद्रा पोर्ट की भूमिका की भी जांच करेगी। इस बात की भी जांच की जाएगी कि क्या मुंद्रा पोर्ट का कोई अधिकारी इस मामले में शामिल था।

%d bloggers like this: