May 11, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बांग्लादेश की किसी दवा कंपनी ने रेमेडिसिवर सप्लाई के लिए भारत सरकार को आवेदन नही किया-बाबूलाल

मुख्यमंत्री जनता को दिग्भ्रमित करना बंद करें

रांची:- भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि बांग्लादेश से रेमेडिसीवर ख़रीद की झारखंड सरकार को अनुमति दिलाने और तमाम शंका के समाधान के लिये उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ ही भारतीय ड्रग कंट्रोलर वी जी सोमानी जी से बात की है। उन्होंने बताया कि किसी भी विदेशी ड्रग,वैक्सीन या ऐसे ज़रूरी सामान को भारत ही नहीं किसी दूसरे देश में भी बेचने की इजाज़त उस देश के निहित प्रकिया से गुजरती है। ऐसा करना देश के नागरिकों के जान की सुरक्षा के लिये अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जो बांग्लादेशी कंपनी झारखंड या दूसरे राज्यों को इमरजेंसी इस्तेमाल के लिये देने की पेशकश कर रही है या करना चाहती है, उसने आजतक ऐसा कोई भी आवेदन भारत सरकार में किया ही नहीं है। बाबूलाल ने कहा कि अगर ऐसी कोई कंपनी नमूने के साथ रेमेडिसीवीर देने का आवेदन भारत सरकार को विहित प्रपत्र में करती है तो उसके नमूने के स्टैंडर्ड की जाँच कर तुरंत मंज़ूरी दी जायेगी। बशर्ते की उसके यहाँ निर्मित हो रही दवा यहाँ इस्तेमाल किये जा रहे दवा की गुणवत्ता के समकक्ष हो।
बाबूलाल मरांडी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से आग्रह किया कि अगर बंगलादेशी ऐसी किसी कंपनी की ओर से भारत सरकार में नमूने के साथ रेमेडिसीवीर बेचने के लिये दिये गये आवेदन की प्रति उपलब्ध है तो उसे सार्वजनिक करें। हमलोग उसकी बिना विलम्ब सैम्पल टेस्ट कराने (अगर जाँच के पैमाने पर दवा सही पायी गयी तो) और तुरंत मंज़ूरी दिलाने की भारत सरकार से पहल करेंगे।
उन्होंने मुख्यमंत्री, उनके सहयोगियों काँग्रेस एवं उनके दल झारखंड मुक्ति मोर्चा के लोगों से आग्रह किया कि विपदा की इस प्रलयकारी काल में झूठी एवं भ्रामक जानकारी देकर झारखंड की भोली-भाली जनता को कष्ट पंहुचाने से बाज आयें। अभी पूरा ध्यान आक्सीजन, वायपैप, शोभा की वस्तु बना यत्र तत्र पड़े वेंटिलेटर के इस्तेमाल का उपाय कर लोगों के टूटते साँसों की डोर को थामने के प्रयास पर केंद्रित करना चाहिये। लोगों की जान बचेगी, हम बचेंगे, आप बचेंगे तो राजनैतिक पैंतरे और टीका टिप्पणी के अवसर रोज मिलेंगे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: