May 12, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

न्यूज एजेंसी का भविष्य अच्छा, नई चुनौतियों के लिए रहें तैयारः जावड़ेकर

– प्रतिस्पर्धा के दौर में न्यूज एजेंसी को अधिक प्रामाणिक बनाने की जरूरत

नई दिल्ली:- केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को कहा कि आज देश का जन-जन जागरूक है। वह अपने मुद्दों व विषयों पर परिस्थिति का आकलन करता है और निष्कर्ष तक पहुंचता है। ऐसे में लोगों की नब्ज पहचानने की जरूरत है, जिसमें न्यूज एजेंसी बड़ी भूमिका निभा सकती है लेकिन आज के डिजिटल व प्रतिस्पर्धी युग में न्यूज एजेंसी को अधिक प्रामाणिक बने रहने की जरूरत है।
जावड़ेकर ने उक्त बातें बहुभाषी न्यूज एजेंसी) के 73वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कहीं। कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में आयोजित कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री ने हिन्दुस्थान समाचार के समूह संपादक रामबहादुर राय, अध्यक्ष रविन्द्र किशोर सिन्हा और कार्यकारी अध्यक्ष अरविंद मार्डीकर के साथ भारतीय नववर्ष पर आधारित दैनंदिनी और यथावत पत्रिका के मीडिया विशेषांक का विमोचन किया।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि न्यूज इन दिनों एक बड़ा कारोबार हो चला है। इस कारोबार में बने रहने के लिए एजेंसी को अपनी खबरों की गुणवत्ता और विश्वसनीयता पर ज्यादा ध्यान केन्द्रित करना चाहिए। एजेंसी में विशेष के साथ-साथ लीक से हट कर खबरें भी होनी चाहिए। इसलिए इसे बहुउपयोगी माध्यम बनाना चाहिए। लोकतंत्र में सभी के विचारों को सामने लाने का काम भी एजेंसी को ही करना है। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में न्यूज एजेंसी का रूप और स्वरूप दोनों बदल रहा है। उन्होंने कहा कि न्यूज के क्षेत्र में पहले खबर ब्रेक करने वाले को पहला स्थान मिलता है। कहने का मतलब है कि प्रतिस्पर्धा बढ़ी है, इसलिए एजेंसी को भी अपने स्वरूप को बदलना चाहिए। एक न्यूज एजेंसी के पास कार्य करने की स्वतंत्रता होती है और वह किसी विशेष घटना को बड़े और विस्तृत तरीके से कवर कर सकते हैं। जावड़ेकर ने एजेंसी में सूत्र के आधार पर खबरें ब्रेक करने के तरीके पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि न्यूज एजेंसी में इस तरह की खबरों का कोई स्थान नहीं है, क्योंकि वह अपनी प्रामाणिकता के लिए जानी जाती हैं।
इस मौके पर हिन्दुस्थान समाचार के समूह संपादक रामबहादुर राय ने पत्रकारिता के राष्ट्रीय और भाषाई स्वरूप पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमें राष्ट्रीय महत्व के विषयों पर सकारात्मक दृष्टि रखते हुए समाचार देने चाहिए। उन्होंने न्यूज के कारोबारी स्वरूप पर सवाल उठाया और कहा कि आज खबरें मनोरंजन बनती जा रही हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे में एजेंसी के तौर पर हिन्दुस्थान समाचार की यह भूमिका बनती है कि वह मनोरंजन की जगह समाचार का मजबूत माध्यम बने।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: