अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नई टीम को मिली बड़ी जिम्मेदारी, कोने-कोने में कांग्रेस का झंडा, कार्यकर्त्ता और संगठन नजर आये-आरपीएन सिंह


नई नियुक्तियों के लिए जल्द प्रक्रिया शुरू होगी, गरीबों की जमीन वापस होगी, विस्थापन आयोग का भी गठन शीघ्र
रांची:- झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा है कि राज्य में संगठनात्मक फेरबदल की गयी है। नयी टीम को पार्टी नेतृत्व ने यह जिम्मेवारी सौंपी है कि राज्य के कोने-काने में कांग्रेस का झंडा, कांग्रेस का कार्यकर्त्ता और पार्टी कार्यकर्त्ता नजर आये। कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने आज रांची में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान घोषणा पत्र में पार्टी की ओर से जो वायदे किये गये थे, उन वायदे को पूरा करने के लिए कांग्रेस प्रतिबद्ध है और इस दिशा में प्रयास शुरू कर दिये गये है। किसानों का ऋण माफी किया गया, 15लाख हरा राशन कार्ड उपलब्ध कराया गया, कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग ने अच्छा काम किया, ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराने में झारखंड अव्वल रहा।
कांग्रेस प्रभारी ने कहा कि रोजगार बड़ा मुद्दा है, इस संबंध में कल ही उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से बात की है, उन्होंने बताया कि यहां के स्थानीय लोगों को अधिक से अधिक नौकरी देने की योजना बनायी गयी है, इसके लिए इसी वर्ष नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि नियोजन नीति में कुछ त्रुटिया है, इसके लिए एक कमेटी बनायी गयी है, जो मुख्यमंत्री से चर्चा कर इसमें सुधार करेगी। उन्होंने कहा कि बिजली को लेकर कई समस्या है, बिजली आज ग्रामीण क्षेत्र में उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना शहरी क्षेत्र में है।
आरपीएन सिंह ने कहा कि झारखंड में एक बड़ी समस्या है कि पिछली सरकार में गरीबों से बड़ी संख्या में जमीन छीनी गयी थी, यदि लैंड बैंक से उद्योग लती है, तो पार्टी को कोई आपत्ति नहीं होगी, क्योंकि इससे लोगों को रोजगार मिलेगा, लेकिन गरीबों से छीनी गयी जमीन को वापस कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य में विस्थापन बहुत बड़ी समस्या है, इस संबंध में सात विधायकों की ओर से भी सुझाव दिया गया है, पार्टी यह मांग करती है कि जल्द से जल्द विस्थापन आयोग का गठन हो।
इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा, बंधु तिर्की, जलेश्वर महतो और शहजादा अनवर भी मौजूद थे।

%d bloggers like this: