अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नियोबैंक फ्रीओ की इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक के साथ भागीदारी


नयी दिल्ली:- अपनी तरह के पहले क्रेडिट-आधारित नियोबैंक फ्रीओ ने इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक के सहयोग से जीरो-बैलेंस बचत खाता शुरू करने की घोषणा की है। इस बचत खाते का नाम फ्रीओ सेव होगा। फ्रीओ सेव ग्राहकों को पूरी जानकारी के साथ वित्तीय निर्णय लेने और इस प्रक्रिया में अपना क्रेडिट प्रोफाइल मजबूत करने की अनुमति देता है। इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक की ओर पेश किया जा रहा बचत खाता एक लाख रुपए और उससे अधिक के बैलेंस पर 7 प्रतिशत की ब्याज दर और बिलों के भुगतान को आसान बनाने के लिए यूपीआई के साथ सहज एकीकरण भी प्रदान करता है। फ्रीओ के सह-संस्थापक अनुज काकर ने कहा, “फ्रीओ में हम समझते हैं कि सही दिशा में छोटे कदम आपको पैसे बचाने, स्मार्ट तरीके से खर्च करने और क्रेडिट हेल्थ बनाने में कैसे मदद कर सकते हैं। इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक के साथ हमारे फ्रीओ बचत खाते के लॉन्च के साथ हमारा उद्देश्य ग्राहकों को उनकी वित्तीय स्वतंत्रता की दिशा में बेहतर कदम उठाने में मदद करना है। हम मानते हैं कि लोगों के पास अपने खर्च करने के पैटर्न का विश्लेषण करने और छोटे कदम उठाने की ताकत है जो उन्हें बस थोड़ी-सी मदद से अपना क्रेडिट स्कोर बनाने और बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। वास्तव में फ्रीओ की छत के नीचे हमारी सभी सुविधाओं और समाधानों को इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए सावधानीपूर्वक डिज़ाइन किया गया है। इससे हम उपयोगकर्ताओं को बिना किसी डर के खर्च करने की स्वतंत्रता प्रदान करते हैं। साथ ही उन्हें उनकी सभी इच्छाओं को पूरा करने के लिए अतिरिक्त सुविधा प्रदान करते हैं।” इस साझेदारी पर बैंक के सीडीओ वैभव जोशी ने कहा, “हम पहले ग्राहक होने में विश्वास करते हैं और हमारी फिलोसॉफी अपने ग्राहकों को व्यवहारिकता, सुविधा और सहजता प्रदान करना है। हम छोटे वित्त के क्षेत्र में ग्राहकों के लिए नए युग का डिजिटल बैंकिंग अनुभव देने की दिशा में आगे बढ़ते हैं तो इसी तरह की विचारधारा के साथ फ्रीओ के साथ हमारा सहयोग आगे बढ़ने का सही तरीका लगता है। हमें विश्वास है कि हमारा तकनीकी ढांचा सभी शहरों में विश्वस्तरीय उपभोक्ता को पहला डिजिटल बैंकिंग अनुभव प्रदान करने के एकीकृत दृष्टिकोण को सशक्त बनाएगा। नियो बैंकिंग इक्विटास बैंक में हमारी डिजिटल 2.0 रणनीति का महत्वपूर्ण हिस्सा है। फ्रीओ का बैकग्राउंड और उनकी लैंडिंग प्रैक्टिस में 1.5 करोड़ यूजर बेस को सर्विसेस देने की ताकत के साथ यह साझेदारी हमारे बैंकिंग समाधानों को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाएगी।”

%d bloggers like this: