मुंबई:- राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने बुधवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की आलोचना की और यहां दशहरा के दिन आयोजित पहली जनसभा में उनके (श्री शिंदे) भाषण खोखला करार दिया।
राकांपा के मुख्य प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा कि लगभग 100 दिनों के कार्यकाल के बाद श्री ने मुंबई या महाराष्ट्र के लिए कुछ भी घोषणा नहीं की, बल्कि अपने तख्तापलट के लिए केवल आत्म-बलिदान और औचित्य की घोषणा की।
उन्होंने राज्य सरकार पर राज्य के लिए कोई विकास रोडमैप नहीं होने का आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री आज किसी कल्याणकारी योजना की घोषणा नहीं कर सके। राकांपा नेता ने कहा, “हर जनसभा में श्री शिंदे को अपने तख्तापलट को सही ठहराना पड़ रहा है, क्योंकि वह अपने दिल में जानते हैं कि महाराष्ट्र के लोगों ने उन्हें स्वीकार नहीं किया है।” उन्होंने कहा, “मैंने ऐसा आत्म-गौरव कभी नहीं देखा।”

Leave a Reply

%d bloggers like this: