April 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नमामि गंगे योजना को लेकर उदासीन है बक्सर नगर परिषद नही है कोई खेवनहार

बक्सर:- एक तरफ केंद्र सरकार की प्राथमिकता में सुमार नमामि गंगे परियोजना को लेकर एक साथ कई तरह के कार्य किये जा रहे है,तो दूसरी ओर बक्सर नगर परिषद खुद गंगा नदी के चार जगहों को कूड़ा डम्पिंग जोन बना कर नमामि गंगे योजना की कवायद पर पानी फेरने का काम कर रहा है। नगर परिषद के अधिकारी भी मानते है ,शहर में जगहों की किल्लत की वजह से ऐसा किया जा रहा है।इन दिनों लगभग तेरह टन कूड़ा सीधे तौर पर गंगा में समाहित हो रहा है।स्थानीय नागरिको द्वारा इस बात का संज्ञान जिलाधिकारी बक्सर को दिए जाने के बावजूद इस दिशा में कोई उचित कदम नही उठाए जाने जन आक्रोश पनप रहा है। इस बाबत बक्सर नगर परिषद के पूर्व उप प्रमुख इम्तियाज खान का कहना है कि शहर से दूर कूड़ा डम्पिंग जोन बनाये जाने पर पड़नेवाली आर्थिक बोझ को बहाना बनाकर परिषद द्वारा यह कार्य किया जा रहा है। उल्लेखनीय है नगर परिषद के अंतर्गत पड़ने वाले कुल 34 वार्डो के कई ऐसे सघन बस्तियो के बीचो बीच इन दिनों कूड़ा के डम्पिंग किये जाने से लोगो के स्वाथ्य पर बुरा असर पद रहा है। बिहार सरकार जल जीवन हरियाली योजना पर करोड़ो रूपये खर्च कर जल संचय के लिए नदी ,नहर ,पोखरा और तलाब की खुदाई करा कर उसका सन्दौयीकरण कराने की कवायत में लगी है ,वहीं बक्सर नगर परिषद अधिकारियों के नाक के नीचे बाईपास स्थित नहर में कूड़ा डम्पिंग कर उसे भरने का काम कर रहा है। हालात यह है की आरोप -प्रत्यारोप के बीच नमामि गंगे समेत कूड़ा डम्पिंग जोन को लेकर कई योजनाओं पर बुरा असर पड़ रहा है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: