January 27, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मुंबई ने निरंतरता के कारण जीता खिताब, प्रयोगों ने चेन्नई को डुबोया

नयी दिल्ली:- टीम लाइनअप में निरंतरता के कारण मुंबई इंडियंस ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया और आसानी से अपने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिताब का बचाव कर लिया जबकि गत उपविजेता चेन्नई सुपरकिंग्स इस बार प्रयोगों के चलते नाकाम रही और प्लेऑफ में नहीं पहुंच पायी।
ग्लोफैंस के क्रिक डेटा मैट्रिक्स व्हाइट पेपर ने आईपीएल के अपने आकलन के आधार पर बताया है कि आईपीएल के 13वें सीजन का पहला मैच खेलने वाली दो टीमें मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स को क्या चीजें अलग बनाती हैं। मुंबई और चेन्नई ने आईपीएल 2020 की शुरुआत दो शीर्ष टीम के तौर पर की थी। एक ने मौजूदा विजेता के तौर पर और एक ने उपविजेता के तौर पर। मुंबई इंडियंस ने उस पर लगी उम्मीदों को पूरा किया, लेकिन चेन्नई इस बार फिसड्डी साबित हुई।
क्रिक डेटा मैट्रिक्स ने आईपीएल में फेंकी गई 14,007 लीगल गेंदों का विश्लेषण किया है। हर गेंद को ग्लोफैंस के कॉपीराइट वाले टूल से 40 पैमानों पर मापा गया है।आईपीएल-2020 पर व्हाइट पेपर की स्टडी को पांच लाख 60 हजार 280 अलग-अलग मैट्रिक्स पर मापा गया।
560,280 प्राथमिक स्टडी के बाद जो कर्व मिला उसमें मुंबई इंडियंस सबसे आगे है। रोचक बात है कि इसमें पिछले साल की उपविजेता नीचे गिरती दिखी है।
नंबर-3 और नंबर-5 बल्लेबाजी क्रम पर निरंतरता निर्णायक पहलू बना है। मुंबई इंडियंस के लिए नंबर-3 पर सूर्यकुमार यादव बल्लेबाजी कर रहे थे। चौथे और पांचवें नंबर पर वह तीन विकल्प के साथ गए। वहीं सीएसके के पास सुरैश रैना की गैरमौजूदगी में कभी भी तय बल्लेबाजी क्रम नहीं दिखा।

Recent Posts

%d bloggers like this: