January 20, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना से ज्यादा मौत ,बिजली विभाग की लापरवाही से हो रही है : आलोक दूबे

चरणबद्ध तरीके से आंदोलन की होगी शुरुआत

राँची:- झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण से राज्य में जितने लोगों की मौत हो रही है,उससे कहीं ज्यादा मौत बिजली विभाग की लापरवाही से आमजनों और बिजली विभाग के कर्मियों की मौत हो रही है। इस तरह की दुःखद घटनाओं पर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराने और पुनरावृति पर अंकुश की मांग को लेकर पार्टी की ओर से चरणबद्ध तरीके से आंदोलन की शुरुआत की जाएगी।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता ने कहा कि चरणबद्ध आंदोलन आंदोलन के पहले चरण में बिजली विभाग और केईएल कंपनी के कुकृत्यों को उजागर के लिए फेसबुक, ट्वीटर और सोशल मीडिया लाइव कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके तहत सबसे पहले बिजली बोर्ड मुख्यालय समेत अन्य कार्यालयों के बाहर सोशल मीडिया लाइव कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके बाद दूसरे चरण में बिजली विभाग के जिम्मेवार लापरवाह अधिकारियों के घर के बाहर कार्यक्रम आयोजित कर उनके घर के आसपास रहने वाले लोगों को भी सच्चाई से से अवगत कराया जाएगा। इस क्रम में बिजली विभाग और केईएल अधिकारियों द्वारा अवैध तरीके से अर्जित की गयी संपत्ति का भी ब्यौरा एकत्रित कर उसे सार्वजनिक किया जाएगा।
आलोक कुमार दूबे ने कहा कि बिजली विभाग की लापरवाही के कारण कई लोगों की जान जा चुकी है और जगह-जगह जर्जर तार, गड्ढे तथा झुके हुए पोल दुर्घटना को आमंत्रित कर रहे है, इसके खिलाफ विभिन्न थानों में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है, इस मामले में अदालत के माध्यम से भी लंबी लड़ाई लड़ने की तैयारी की जा रही है, किसी भी हाल में ऐसे दोषी अधिकारियों-कर्मचारियों को छोड़ा नहीं जाएगा और उन्हें कानून के माध्यम से सजा दिलाने की कोशिश होगी।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता ने कहा कि यदि पिछले-दो तीन दिनों में ही बिजली विभाग की लापरवाही को ही देखा जाए, तो राज्य के विभिन्न हिस्सों में आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, अब समय आ गया है कि लोग बिजली विभाग के अधिकारियों इस रवैये के खिलाफ एकजुट होकर संघर्ष के लिए तैयार हो जाए। 24जुलाई को चतरा जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के पुरानी हेसाब निवासी जीबलाल यादव की मौत बिजली के करंट में आने से हो गयी, वे जिवलाल आवासीय विद्यालय सिमरिया में शिक्षक के रूप में कार्यरत थे। इसी तरह से 24जुलाई को ही खूंटी जिले के कर्रा थाना क्षेत्र के चलडान्डू गांव में खेत में कामक रने गये सुरेश कुमार नामक एक ग्रामीण की मौत हो गयी। इससे पहले 22जुलाई को गढ़वा जिले जोबरईया गांव में बिजली करंट लगने से तीन लोगों की मौत हो गयी। राज्य के अन्य हिस्सों में भी बिजली करंट लगने से लगातार जानमाल के नुकसान की घटनाएं होती है, लेकिन मीडिया में ये खबरें सुर्खियों में नहीं रह पाती है। पार्टी ऐसे सभी पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने का काम करेगी।

Recent Posts

%d bloggers like this: