अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मोदी सरकार ने स्पाइवेयर ‘पेगासस’ इस्तेमाल कर भारत के लोकतंत्र को कंलंकित किया : कांग्रेस

रांची:- झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और डॉ0 राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि मोदी सरकार ने स्पाइवेयर ‘पेगासस’ इस्तेमाल कर भारत के लोकतंत्र को कंलंकित किया है और लोकतांत्रिक मूल्यों पर प्रहार किया है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा कि आज चुनावों के दौरान राजनीतिक षड़यंत्र के लिए जासूसी को अंजाम देना आपराधिक कृत्य है। रिपोर्ट में शर्मनाक खुलासा हुआ है कि स्पाईवेयर पेगासस का इस्तेमाल भारत की संसद के 2019 के आम चुनावों में सेल फोन हैक करने के लिए भी किया जा रहा था और इसमें मोदी सरकार की मिलीभगत है।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता श्री दूबे ने कहा कि संघ-भाजपा के डीएनए में जासूसी की लत अंग्रेजों के समय से है, यह छूटेगी थोड़ी। उन्होंने कहा कि पेगासस स्पाईवेयर केवल सरकार को बेचा जाता है। भाजपा सरकार स्पष्ट करें कि क्या उसने पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल किया। देश जासूसी कांड पर भाजपा सरकार का जवाब चाहता है। उन्होंने कहा कि पेगासस स्पाईवेयर ने नेशनल इंटरनेट बैकबोन और एमटीएनएल सहित कई टेलीफोन-इंटरनेट प्रदाताओं को नुकसान पहुंचाया है। इससे स्पष्ट होता है कि देशवासियों की गोपनीय जानकारी और निजता का भी उल्लंघन हुआ है।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल राजनेताओं, पत्रकारों, शिक्षाविदों, नागरिक अधिकार कार्यकर्त्ताओं को निशाना बनाने के लिए किया गया है। ऐसी डरपोक सरकार ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश की छवि को आघात पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि न्यूज रिपोर्ट कह रही है कि केवल पत्रकारों, विपक्ष के नेता और खुद के मंत्रियों के ही नहीं, देश की सुरक्षा एजेंसियों के हेड है, जो लोगों की सुरक्षा करते हैं, देश की सीमाओं की सुरक्षा करते है, मोदी सरकार उनकी भी जासूसी कर रही थी, कम से कम इन्हें तो बख्श दिया जाता।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डा राजेश गुप्ता ने कहा भाजपा नेताओं को यह बताना चाए कि पार्टी के वरिष्ठ नेता रहाल गांधी के फोन की जासूसी कर वे किस तरह के अपराध तथा टेरर से लड़ाई रहे थे। पत्रकारों की जासूसी करवा कर कौन से टेरिस्ट से लड़ रहे थे, चीफ इलेक्शन कमिश्नर की जासूसी करवा कर कौन से उग्रवादी से लड़ रहे थे।

%d bloggers like this: