अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

श्रीराम के नाम पर मिले चंदे का दुरुपयोग लोगों की आस्था का अपमान-कांग्रेस

रांची:- झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और डॉ0 राजेश गुप्ता छोटू ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट पर घपले के कथित आरोप पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि करोड़ों लोगों ने आस्था और भक्ति के चलते भगवान के चरणों में चढ़ावा चढ़ाया, उस चंदे का दुरुपयोग अधर्म है, पाप है, उनकी आस्था का अपमान हैं।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि भाजपा देश में एक ऐसी पार्टी है, जिसने लाश और कफन घोटाले तक को अंजाम दिया। भगवान श्रीराम तो इनके लिए एक व्यापार का जरिया है, ये लाशों के व्यापारी है, इनका कोई ईमान-धर्म नहीं होता, इनके लिए बाप बड़या भैया, सबसे बड़ा रुपैया है। ये लोग दुनिया में कोई काम करने के लिए नहीं आये है, बल्कि चंदा के पैसे से जलपान करने में विश्वास करने वाले लोग हैं, जो लोग श्रीराम के नाम पर 5 मिनट में 16.5 करोड़ रुपये ठग सकते है, उनके बारे में यह सहज अनुमान लगाया जा सकता है कि राम के नाम पर राजनीति करने वाले पिछले सात सालों में पूरे देश को कितनी बार ठग चुके होंगे।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि श्रीराम के नाम पर घोटाले की बात सामने आयी है, लेकिन फिर भी अब तक अंधभक्तों के मुंह पर ताला लगा है, जो राम का नहीं, वह किसी का काम नहीं, राम मंदिर के नाम पर करोड़ों रुपये का घोटाले करने वाले लोगों की सच्चाई अब सामने आ गयी है, इन्हें जनता समय आने पर जवाब देगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाने की घोषणा की थी, इसका मतलब साफ है कि ट्रस्ट के एक-एक सदस्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जानकारी में काम कर रहा था।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डॉ0 राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि रामचंद्र कह गये सिया से, ऐसा कलयुग आएगा, मेरे नाम पर चंदा लेकर घोटाला किया जाएगा, भगवान श्रीराम के नाम पर राजनीति करने वाले लोगों की असलियत अब सामने आ चुकी है। यह न्यास उन्हीं आरएसएस-विहिप के लोगों का संगठन है, जिसने इससे पहले भी मंदिर निर्माण पर 1400 करोड़ रुपये चंदे का हिसाब अब तक जनता को नहीं दिया। निमोही अखाड़े के अनेक सदस्यों द्वारा कई बार मांगने पर भी हिसाब नहीं दिया गया।

%d bloggers like this: