अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बीजेपी विधायक सीपी सिंह की टिप्पणी के खिलाफ मंत्री बन्ना गुप्ता खुद ऑटो चलाकर विधानसभा पहुंचे


बन्ना गुप्ता को ऑटो चालक और एजेंट कहने से कांग्रेस नेताओं में है नाराजगी
रांची:- झारखंड विधानसभा के मॉनसून सत्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक की टिप्पणी के खिलाफ विरोध जताने के लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता गुरुवार को खुद ऑटो चलाकर विधानसभा पहुंचे और बीजेपी विधायक की सोच को सामंतवादी ताकतों का पोषक करने वाला करार दिया।
स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि जिस तरह से विधानसभा के अंदर भाजपा विधायक सीपी सिंह उनके द्वारा पूर्व में ऑटो चलाने को लेकर अपमान जनक टिप्पणी की थी वह सोच उनकी संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि एक गरीब का बेटा आज विधायक और मंत्री बना है तो भाजपा भाजपा नेताओं जैसे सातंतवादी सोच और मानसिकता रखने वाले लोगों को दुःख हो रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा पूरी तरह से गरीब पिछड़ा और मुस्लिम विरोधी है।
बन्ना गुप्ता ने कहा कि बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने सदन के अंदर जिस तरीके से अमर्यादित बयान देकर सामंतवाद को बढ़ावा दिया है, वह सामाजिक न्याय को थप्पड़ मारने की तरह है। उन्होंने कहा है कि गरीब ऑटो चालकों के सम्मान का मजाक उड़ा कर सीपी सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी चुनौती देने का काम किया है, जब एक चाय बनाने वाला प्रधानमंत्री बन सकता है तो क्या चालक और ऑटो एजेंट राज्य का मंत्री नहीं बन सकता है। बन्ना गुप्ता ने कहा कि सीपी सिंह बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं और कई बार विधायक रह चुके हैं, यहां तक कि संवैधानिक पद पर भी रह चुके हैं, उनके द्वारा इस तरह का बयान देना अशोभनीय है। उनके इस बयान के विरोध में आज ऑटो चला कर सदन पहुंचा हूं और जनता को यह बताना चाहता हूं कि जब देश में चाय बेचने वाला प्रधानमंत्री बन सकता है तो राज्य में एक ऑटो चलाने वाला भी मंत्री बन सकता है।
गौरतलब है कि मंगलवार को सदन में बीजेपी विधायक सीपी सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को टेंपो एजेंट बता दिया था, जिसके बाद से राजनीतिक सरगर्मी तेज है। कांग्रेस ने इस बयान को लेकर सीपी सिंह को माफी मांगने के लिए 1 दिन का समय दिया था। लेकिन 1 दिन बीत जाने के बाद भी सीपी सिंह ने इस बयान को लेकर माफी नहीं मांगी है, इससे सीपी सिंह के बयान पर विरोध जताने के लिए स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ऑटो से झारखंड विधानसभा पहुंचे।

%d bloggers like this: