अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मेयर ने अनुशासनहीनता के लिए नगर आयुक्त को ठहराया जिम्मेदार

रांची:- रांची की मेयर डॉ. आशा लकड़ा ने सोमवार को नगर आयुक्त को पत्र लिख कर कहा है कि राजनीतिक द्वेष छोड़कर शहर की जनता से जुड़ी समस्याओं के समाधान की दिशा में विधि सम्मत कार्य करें। दरअसल 11 जून को मेयर ने रांची नगर निगम क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में नालियों की साफ-सफाई का निरीक्षण किया था। निरीक्षण से एक दिन पूर्व रांची नगर निगम के संबंधित विभाग के अधिकारियों को भी निरीक्षण के दौरान उपस्थित रहने की सूचना दी गई थी। परंतु मेयर के निरीक्षण के दौरान सिर्फ एनफोर्समेंट टीम के कर्मी, सुपरवाइजर व जोनल सुपरवाइजर ही उपस्थित रहे। रांची नगर निगम के एक भी अधिकारी निरीक्षण के दौरान उपस्थित नहीं थे। मेयर डॉ. आशा लकड़ा ने अधिकारियों की इस अनुशासनहीनता के प्रति नगर आयुक्त मुकेश कुमार को ही जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने नगर आयुक्त को लिखे गए पत्र में स्पष्ट शब्दों में कहा है कि पूर्व सूचना देने के बाद भी मेयर के निरीक्षण के दौरान रांची नगर निगम के एक भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। फिर भी आपने संबंधित अधिकारियों पर कोई कार्रवाई नहीं की। अधिकारियों का उपस्थित नहीं होना कहीं न कहीं यह इंगित करता है कि उन्हें आपके द्वारा कार्रवाई किए जाने का कोई डर नहीं है। ऐसे में आपकी कार्यशैली पर भी सवाल उठना लाजमी है। मेयर ने पत्र के माध्यम से यह भी कहा है कि निरीक्षण के दौरान जोड़ा तालाब के अधूरे कार्यों का भी निरीक्षण किया गया था, परंतु अभियंत्रण शाखा के अधिकारियों की अनुपस्थिति के कारण जोड़ा तालाब के अधूरे कार्यों से संबंधित कारणों की जानकारी नहीं मिल पाई। पिछले दिनों आपके माध्यम से जोड़ा तालाब का सुंदरीकरण व जीर्णोद्धार का कार्य कर रहे संवेदक पर कार्रवाई करने की बात कही गई थी। उस दिशा में अब तक क्या कार्रवाई की गई है ? यदि इस मामले को आपने गंभीरता पूर्वक नहीं लिया है तो क्या यह समझा जाए कि आप अपने ही निर्णय पर कार्रवाई करने में सक्षम नहीं हैं। मेयर ने यह भी कहा है कि शहर में जलजमाव की स्थिति से निपटने के लिए लगातार बड़े व छोटे नालों की सफाई करने का दावा किया जा रहा है, परंतु ऐसा देखने को नहीं मिल रहा है। बड़े नालों के क्षतिग्रस्त हिस्से को दुरुस्त करना अति अवश्यक है। मेयर ने नगर आयुक्त को पत्र के माध्यम से सुझाव दिया है कि पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों से समन्वय बनाकर बड़े नालों के क्षतिग्रस्त हिस्सों की मरम्मत कराई जा सकती है। साथ ही सहायक स्वास्थ्य पदाधिकारी डॉ. किरण कुमारी, जो पिछले कई वर्षों से रांची नगर निगम में कार्यरत हैं। शहर की सफाई, बड़े व छोटे नालों की सफाई, फॉगिंग, मच्छरों के लार्वा को नष्ट करने के लिए केमिकल स्प्रे व बारिश से उत्पन्न जलजमाव की समस्या से निपटने के लिए उनके अनुभव के आधार पर कार्य करने से कई समस्याओं का समाधान हो सकता है। इसलिए विषम परिस्थितियों में बेहतर कार्य करने के लिए रांची नगर निगम के अनुभवी अधिकारियों से विचार-विमर्श कर सकारात्मक निर्णय लिए जाने की आवश्यकता है।

%d bloggers like this: