January 18, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना पर केंद्र से हाथ मिलाने को तैयार : मुख्यमंत्री ममता

कोलकाता:- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि पूरा देश अब एक शुरुआती टीकाकरण कार्यक्रम की प्रतीक्षा कर रहा है जहां राज्य सरकार महामारी के खिलाफ एक व्यापक लड़ाई के लिए केंद्र और सभी पक्षों के साथ जुड़ने के लिए तैयार है। सुश्री बनर्जी ने यह बात उस समय कही जब उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा बांकुरा जिले की बुलाई गई बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये हिस्सा लिया था। दिल्ली से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी उस कांफ्रेंस से जुड़े थे। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने आश्वासन दिया कि टीकाकरण कार्यक्रम के लिए पश्चिम बंगाल प्रशिक्षित जनशक्ति और आवश्यक बुनियादी ढांचे (कोल्ड चेन सहित) से पूरी तरह तैयार है। मुख्यमंत्री ने कहा, “हम केंद्र और अन्य सभी पक्षों के साथ काम करने के लिए तैयार हैं। टीका उपलब्ध होते ही सभी के लिए शीघ्र और सार्वभौमिक टीकाकरण सुनिश्चित करें।”
सुश्री बनर्जी ने कहा कि दुर्गापूजा-कालीपूजा-छठ पूजा में उत्सव की शुरुआत और बड़े पैमाने पर उप-शहरी रेल आवागमन की सिफारिश के बावजूद, पश्चिम बंगाल वास्तव में संक्रमितों की पॉजिटिविटी दर और मृत्यु दर को कम करने और रोगमुक्त हुए लोगों के स्वस्थ होने की दर में सुधार करने में सफल रहा है।

उन्होंने कहा,“वास्तव में, कईं देशों और कईं राज्यों के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को साझा करने और पड़ोसी राज्यों से रोगियों के बोझ को वहन करने के बावजूद, पश्चिम बंगाल उल्लेखनीय रूप से अच्छा प्रदर्शन कर रहा है ।
उन्होंने स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं (आशा और अन्य कोविड योद्धाओं) की वीरतापूर्ण लड़ाई का उल्लेख किया। उन्होेंने कोरोना के खिलाफ निरंतर लड़ाई लड़ने में कोरोना योद्धाओं की भूमिका को काफी अहम बताया। उन्होंने कहा,“आशा कार्यकर्ताओं ने पहले ही सार्वजनिक स्वास्थ्य अभियान के तहत घरों में 4.5 करोड़ घरों में जाकर लोगों के बारे में जानकारी एकत्र की है।”
सुश्री बनर्जी ने कहा,“केंद्र सरकार अभी तक राज्यों के पक्ष में पर्याप्त धनराशि जारी नहीं कर रही है। जहां तक पश्चिम बंगाल का संबंध है, 8,500 करोड़ रुपये के जीएसटी मुआवजे की राशि केंद्र के पास जमा हुई है; दूसरी तरफ; हर खाते पर खर्च बढ़ रहे हैं। ”
उन्होंने कहा,“राज्य (बंगाल)में पहले ही कोविड प्रबंधन के कारण लगभग 4,000 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं लेकिन अब तक केंद्र ने केवल 193 करोड़ रुपये जारी किए हैं।”
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री द्वारा उठाए गए मसले से एक संकेत लेते हुए, सुश्री बनर्जी ने पुष्टि की कि राजनीतिक खेल कौशल, प्रतिस्पर्धात्मक रैलियों और सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरों को अधिक से अधिक सार्वजनिक हित में समाज में रोका जाना चाहिए।

Recent Posts

%d bloggers like this: