June 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मनरेगा लाभुक की बड़ी लापरवाही उजागर, निर्माण के दौरान धंसे कुएं में दबा मजदूर

प्रशासन चला रहा 5 घंटे से राहत बचाव कार्य

चतरा:- चतरा में मनरेगा लाभुक की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है। सरकारी रोक के बावजूद मनमाने तरीके से कराए जा रहे मनरेगा कूप निर्माण कार्य का चाल धंसने से आज एक मजदूर मिट्टी में दब गया है। जिसे सुरक्षित बाहर निकालने के लिए प्रखंड प्रशासन और पुलिस ग्रामीणों के सहयोग से राहत बचाव अभियान चला रही है। प्रशासन द्वारा कुएं में धंसे मिट्टी को बाहर निकालने के लिए जेसीबी भी लगाया गया है। बावजूद करीब पांच घंटे बीत जाने के बाद भी अभी तक मिट्टी में दबे मजदूर को कुएं से बाहर नहीं निकाला जा सका है।
मामला जिले के सिमरिया प्रखंड के कसारी पंचायत अंतर्गत चुनिडीह गांव का है। यहां मोहम्मद कलाम के खेत में 3 लाख 81 हजार 294 रुपये की लागत से मनरेगा कूप का निर्माण कराया जा रहा था। जहां कूप निर्माण में लाभुक का भतीजा मनरेगा मजदूर मो. साबिर अंसारी काम कर रहा था। काम के दौरान ही ऊपर से मिट्टी का चाल धस गया। जिसमें कुएं के भीतर काम कर रहा मोहम्मद साबिर मिट्टी में दब गया। आनन-फानन में ग्रामीणों ने घटना की सूचना प्रखंड प्रशासन और पुलिस को दी। जिसके बाद से राहत बचाव अभियान चलाया जा रहा है।
गौरतलब है कि चक्रवाती तूफान यास को देखते हुए जिला प्रशासन ने 26 मई से जिले भर में मनरेगा कूप निर्माण कार्य पर रोक लगा रखा है। इसके तहत निर्माण कार्य का डिमांड भी रोक दिया गया है। बावजूद लाभुक के द्वारा सरकारी निर्देशों का अवहेलना कर मनमाने तरीके से कूप का निर्माण कराया जा रहा था। इतना ही नहीं दुर्घटना होने के बाद लाभुक के द्वारा गैरजिम्मेदाराना बयान भी जारी किया गया है। उसने खुद को अनपढ़ बताते हुए सरकारी निर्देशों की जानकारी नहीं होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ने का प्रयास किया है। वही ग्रामीणों और स्थानीय मुखिया ने मजदूर के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: