लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत पूर्णिया के भी मतदाताओ ने भी सुबह सात बजे से शाम के छः बजे तक मतदान किया। पूर्णिया में कुल सात विधान सभा क्षेत्र है जिसमे 56-आमौर,57-बायसी,58-कसबा,59-बनमनखी,60-रूपौली,61-धमदाहा और 62-पूर्णिया है।लोकतंत्र का महापर्व चुनाव के दूसरे चरण में पूर्णिया में भी मतदान को लेकर वोटरों में भी काफी उत्साह देखने को मिला। मतदाता सुबह से ही वोट डालने  केेेलिए बूथो पर जाने लगे। कही बूथों पर वोटरो ने अपने मत बहिष्कार किया तो कही एवीएम मशीन खराब होने से वोटरों को वोट देने में परेशानी का सामना करना पड़ा।पूर्णिया पूर्व प्रखंड के मध्य विद्यालय मझुआ के मतदान केंद्र पर हंगामा बूथ संख्या 295, 296, 297 पर दो ईबीएम मशीन खराब होने पर तथा एक बूथ पर एक तरफा वोटिंग कराने को लेकर मतदाताओ ने जम कर हंगामा किया। वोटिंग के मामले में पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में जोश दिखा। वही लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान में महिलाओं ने काफी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। अधिकतर बूथों में महिलायें सुबह से अपनी बारी का इंतजार करती नजर आई।पूर्णिया पूर्व प्रखंड के मध्य विद्यालय मझुआ के मतदान केंद्र पर हंगामा हुए बूथों पर प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय कुमार, अंचालाधिकारी दिपक कुमार, थानाध्यक्ष मदन कुमार एवं दर्जनों अधिकारी पहुंच कर हंगामें को शांत किया। ईबीएम मशीन बदल कर मतदान पुनः शुरू करवाया गया।पूर्णिया बूथ नंबर 38 पर डेढ़ घंटे से इवीएम मशीन खराब होने से नाराज मतदाताओ ने जम कर किया हंगामा,तो कई मतदाता बिना वोट डाले ही लौट गए । तो वही पूर्णिया- बूथ संख्या 38 पर दो वोट गिरने के बाद एवीएम मशीन खराब होने की वजह से मतदाता काफी परेशान दिखे।पूर्णिया के बूथ संख्या 80 और 81 में मतदाताओ ने अपने अपने मतो का बहिष्कार किया। इन ग्रामीणों का साफ-साफ कहना था कि आजादी के इतने दशक बीतने के बाद भी अब तक गांव में अच्छी सड़क निर्माण,स्वास्थ्य सम्बंधित समुचित व्यवस्था,पुल-पुलिया और बाँध निर्माण आदी

कोई काम नहीं किया इन्हीं सब मांगो के कारण इन बूथों पर सन्नाटा सा माहौल छाया रहा।बताते चलें कि पूर्णिया लोकसभा क्षेत्र के सभी बूथों पर मतदाताओं के लिए पीने का पानी, दिव्यांगों के लिए साइकिल एवं मेडिकल किट उपलब्ध थे। कोई भी दिव्यांग महिला या पुरूष आ जाये तो उनके लिए साइकिल की भी व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से करवाई गई थी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: