अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

UP में आकाशीय बिजली ने मचाई तबाही, 10 जिलों में अब तक 40 लोगों की मौत

लखनऊः- यूपी में रविवार को हुई बारिश के बाद गिरी बिजली ने जमकर कहर बरपाया। जिसके चलते 40 लोगों की मौत हो गई। कानपुर देहात में 6, फतेहपुर में 7, हमीरपुर में 2, प्रयागराज में 13, कौशांबी में 3, प्रतापगढ़ में 2, आगरा में 3, चित्रकूट में 2, वाराणसी और रायबरेली में 1-1 शख्स की जान बिजली गिरने की वजह से चली गई। मरने वालों में महिलाएं कई बच्चे भी शामिल है। आकाशीय बिजली गिरने से बड़ी संख्या में हुई लोगों की मौत पर सीएम योगी ने दुख जाहिर किया है। बिजली गिरने से हुई मौतों पर सीएम योगी ने स्वत: संज्ञान लेते हुए पीड़ित परिवारों के लिए 4-4 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। साथ ही प्रशासन को निर्देश जारी किए कि घायलों को तुरंत इलाज दिया जाए।
प्रयागराज में अलग-अलग जगहों पर बच्चे और बड़े आकाशीय बजली का शिकार हो गए। यहां 2 बच्चों समेत 13 लोगों की मौत हो गई. वहीं 8 भैंस और बकरियों की भी आकाशीय बिजली की चपेट में आकर मौत हो गई। वहीं तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
कौशाम्बी से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक, कौशाम्बी थाना क्षेत्र के मुड़िया डोली गांव में खेत में धान की रोपाई के दौरान गिरी बिजली की चपेट में आने से रुकमा (12) नामक लड़की की मौके पर ही मौत हो गई। सराय अकिल थाना क्षेत्र के अकबराबाद गुहौली गांव निवासी मूरत ध्वज (50) साइकिल से दवा लेने पुरखास बाजार जा रहा था। रास्ते में बारिश होने के कारण वह एक पेड़ के नीचे रूक गया। उसी समय पेड़ पर बिजली गिरी जिसकी चपेट में आने से मूरत ध्वज की मौके पर ही मृत्यु हो गई। इसी थाना क्षेत्र के पुरखास गांव निवासी रामचंद्र (32) की भी खेत में घास काटते वक्त गिरी बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई। जिले के पश्चिम शरीरा थाना क्षेत्र के टिकरी नागी गांव में धान की रोपाई करते समय मयंक सिंह (15) पर आकाशीय बिजली गिरी जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस अधीक्षक राधेश्याम विश्वकर्मा ने बताया कि सभी मृतकों के शव पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिये हैं।
फतेहपुर जिले में रविवार को अलग-अलग जगहों हुए वज्रपात की चपेट में आकर 3 लोगों की मौत हो गई। इनमें दो महिलाएं शामिल हैं। असोथर थाने के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) नागेन्द्र कुमार नागर ने बताया कि रविवार को दिन के करीब ढाई बजे तेज आंधी के साथ हुई बारिश के दौरान हुए वज्रपात (आकाशीय बिजली गिरने) की चपेट में आकर कौंडर गांव की सोनिया (54), सरकंडी गांव के मजरा दलेवा का डेरा की रहने वाली मथुरा (37) की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। इसी प्रकार, बकेवर थाने के आलमपुर गांव की शिवकली (60) आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर राजस्व अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है।
फिरोजाबाद से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक जिले में दोपहर में हुई बारिश के दौरान गिरी बिजली की चपेट में आने से खेत में काम कर रहे तीन किसानों की मौत हो गई। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने बताया कि शिकोहाबाद के नगला उमर निवासी 50 वर्षीय हेमराज और रामसेवक (40) बारिश से बचने के लिए खेत में नीम के पेड़ के नीचे बैठे थे। तभी, आकाशीय बिजली गिरने से उनकी मौत हो गई। उन्होंने बताया कि एक अन्य घटना में शिकोहाबाद क्षेत्र के ही नगला चाटं निवासी अमर सिंह (60) की भी आकाशीय बिजली के चपेट में आकर मौत हो गई। शवों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। सिंह ने बताया कि सभी जगह नुकसान का आकलन के निर्देश उपजिलाधिकारियों को दिए गए हैं। आकलन होने के बाद शासन के निर्देश पर मुआवजा देने की कार्रवाई की जाएगी।

%d bloggers like this: