April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बालू के अवैध खनन और तस्करी तथा पुलिस प्रताड़ना के खिलाफ विधानसभा में जोरदार हंगामा

अप्रैल महीने में बालू घाटों की नीलामी की प्रक्रिया पूरी होगी- सीएम

रांची:- झारखंड विधानसभा में सोमवार को बालू के अवैध खनन और तस्करी तथा पुलिस प्रताड़ना के मुद्दे पर विपक्षी सदस्यों ने जोरदार हंगामा किया। विपक्षी सदस्यों के हंगामे के कारण प्रश्न उत्तर काल की कार्यवाही विधानसभा अध्यक्ष को सदन की कार्यवाही को एक बार के लिए स्थगित करना पड़ा। वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सभा में यह घोषणा की आगामी वित्तीय वर्ष के पहले महीने में बालू घाटों की नीलामी-बंदोबस्ती की प्रक्रिया पूरी होगी।
बालू खनन, परिवहन और पुलिस की मनमानी के खिलाफ भाजपा सदस्यों के शोर-शराब के बीच मुख्यमंत्री ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि भाजपा के लोग सातों दिन, 25 घंटों सिर्फ चुनाव की तैयारी और सरकार बनाने की जुगत में लगे रहते हैं। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था आज कहां जा रही है, इससे कोई मतलब नहीं है। मंत्री ने भी यह बताने का काम किया है कि पिछली सरकार में किस तरह से काम हुआ। भाजपा के लोग अपना खजाना भरने में लगे हुए थे। गठबंधन इसे व्यवस्थित करने में लगी है। उन्होंने कहा कि गतिशील अर्थव्यवस्था को यू टर्न देना आसान काम नहीं है, सरकार इसे दुरुस्त करने में लगी है। मुख्यमंत्री ने विपक्षी सदस्यों के हंगामे पर कहा कि वे लोग सीएम से ही जवाब देने की मांग करते है और जब वे बोलने लगते है, तो बोलने भी नहीं दिया जाता।
इससे पहले प्रभारी मंत्री के रूप में मंत्री बादल ने सदन को यह जानकारी दी कि किसी भी स्थानीय थाने या गश्ती दल को बालू से लदे वाहन को रोकने का आदेश नहीं है। इस संबंध में पहले ही डीजीपी द्वारा सभी जिलों के वरीय पुलिस अधीक्षकों और पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर स्पष्ट आदेश दिया जा चुका है। इसके बावजूद यदि कोई सदस्य इसकी लिखित सूचना देते हैं, तो उस पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी।
वहीं, विधायक बाबूलाल मरांडी ने मांग की कि जब तक बालू घाटों की नीलामी नहीं हो जाती है, तब पीएम आवास, अंबेडकर आवास या अन्य गृह निर्माण के लिए उपयोग में लायी जाने वाली बालू की ढुलाई को फ्री रखा जाए। साथ ही पड़ोसी राज्यों में होने वाली तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए राज्य की सीमा पर चेकपोस्ट में सख्त निगरानी रखी जाए। भाजपा विधायक सीपी सिंह ने कहा कि सरकार की ओर से बालू लदे वाहनों के परिचालन को सुचारू बनाये रखने के लिए जरूर ऐसा कोई आदेश जारी किया गया होगा, लेकिन इसका सख्ती से पालन नहीं हो रहा है। उन्होंने अपने गांव का उदाहरण देते हुए कहा कि स्थानीय पुलिस द्वारा ट्रैक्टर ल दे एक वाहन मालिक से स्थानीय पुलिस पे अवैध राशि की वसूली की। उन्होंने कहा कि राजधानी रांची में भी रात 10ः00 बजे के बाद कभी भी पीसीआर वैन और स्थानीय पुलिस द्वारा बालू ,ईट तथा की गिट्टी लदे वाहनों से अवैध वसूली की जाती है और इसकी जांच कभी भी की जा सकती है।
पेयजल जल मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने बताएगी उनके विधानसभा क्षेत्र के रंका में भी एक पुलिस कर्मी द्वारा बालू लदे वाहन को पकड़ा गया था एसपी और डीआईजी से शिकायत के बाद वह पुलिस कर्मी लाइन हाजिर हो गया। सरकार के जवाब से असंतुष्ट भाजपा विधायक वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। विधानसभा अध्यक्ष रवींदनाथ महतो ने सदन को व्यवस्थित करने का काफी प्रयास किया, लेकिन सदन व्यवस्थित ना होता देख उन्होंने पूर्वाह्न 11.30बजे सभा की कार्यवाही को दोपहर 12बजे तक के लिए स्थगित कर दी। सभी की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर विपक्षी सदस्यों के शोर-शराबे के बीच ही शून्यकाल की सूचनाएं पढ़ी गयी।
इससे पहले भाजपा के विरंची नारायण ने अपने लंबित अल्पसूचिख्त प्रश्न को उठाते हुए कहा कि राज्य में बालू की लूट हो रही है। उन्होंने कहा कि बालू खनन, परिवहन एवं व्यापार में भारी अनियमितता बरती जा रही है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: