January 25, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोविड टेस्ट एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हरमू मुक्तिधाम में करवाया गया अंतिम संस्कार

रांची:- गुरुवार को कांके स्थित नारी निकेतन में रह रही पूजा, उम्र-30 साल के मौत की खबर एक स्थानीय अखबार में छपी थी। जिसके पश्चात उपायुक्त छवि रंजन ने स्वतः संज्ञान लेते हुए जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को नारी निकेतन पहुंच कर पूरे मामले की जांच का निदेश दिया था। साथ ही उन्होंने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को केंद्र में खाद्य पदार्थों उपलब्धता एवं कर्मियों की उपस्थिति से संबंधित एक विस्तृत रिपोर्ट पेश करने को कहा था।
शुक्रवार को उपायुक्त के निदेशानुसार जांच पूरी कर एक विस्तृत प्रतिवेदन पेश किया गया। पेश किए गए रिपोर्ट में जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने बताया कि जांच के लिए जब टीम नारी निकेतन, अरसन्डे, कांके पहुंची थी। जहां जांच के दौरान 2 केयर टेकर उपस्थित थे। साथ ही खाद्य पदार्थों की समुचित मात्रा भी उपलब्ध थी।

नारी निकेतन में समुचित मात्रा में खाद्य पदार्थ उपलब्ध
जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने उपायुक्त छवि रंजन को बताया कि नारी निकेतन में खाद्य पदार्थों की कोई कमी नहीं है। जांच टीम द्वरा केन्द्र के भंडार की भी जांच की गई। भंडार में 2 बोरा चावल, 10 किलो दाल, 05 किलो आटा, 02 किलो खाद्य तेल, 01 किलो नमक$ मशाला की मात्रा उपलब्ध थी। इसके अलावा एक भरा हुआ गैस सिलिंडर भी उपलब्ध पाया गया। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि केंद्र पर दोपहर के खाने के लिए दाल, चावल एवं सब्जी की व्यवस्था थी। साथ ही नारी निकेतन में रहने वाली महिलाओं से भी इस संबंध में बात की गई, जिस पर उनलोगों ने खाद्य पदार्थों की कोई कमी न होने की बात कही। अतरिक्त पोषक आहार उपलब्ध कराने के लिए जानकारी दी गई है। जिस पर जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।
प्राथमिक उपचार मेडिकल किट की व्यवस्था
जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने यह भी जानकारी दी कि नारी निकेतन के केयर टेकर एवं रहवासियों द्वारा प्राथमिक उपचार किट उपलब्ध नहीं होने के संबंध में जानकारी दी गई। जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए निकेतन में प्राथमिक उपचार किट उपलब्ध करवा दिया गया है।
उपायुक्त ने कहा, “समय समय पर करते रहें जांच, मामूली चूक भी ठीक नहीं
नारी निकेतन में रहने वाली पूजा की दुःखद मौत के सम्बन्ध में कड़ाई से नसीहत देते हुए उपायुक्त छवि रंजन ने कहा, “नारी निकेतन या इस तरह के अन्य किसी आश्रय स्थल का विशेष ख्याल रखें। इन जगहों पर रहने वाले लोगों की विशेष देख भाल की आवश्यकता होती है। मामूली चूक होना भी शर्मनाक साबित हो सकता है।“
भूख नहीं अपितु बीमारी की वजह से पूजा की मौत
जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने उपायुक्त को बताया कि नारी निकेतन में आश्रय ली हुई पूजा की दुःखद मौत भूख की वजह से नहीं अपितु लंबी बीमारी की वजह से हुई थी। कोविड 19 टेस्ट एवं पोस्टमार्टम के पश्चात पूजा के शेष को अंतिम संस्कार हेतु हरमू मुक्तिधाम भेज दिया गया था।

Recent Posts

%d bloggers like this: