लखनऊ:- उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुये पार्टी के वरिष्ठ नेता आरपीएन सिंह पर बुधवार को हमलावर रुख अख्तियार करते हुए कहा कि खुद को ‘अगड़ा’ बताने वाले अब भाजपा में जाकर ‘पिछड़ों’ के नेता कैसे हो गये।

लल्लू ने संवाददाता सम्मेलन में आरपीएन सिंह पर कटाक्ष करते हुए कहा, “आरपीएन सिंह अपना नाम ‘कुँवर रतनजीत प्रताप नारायण सिंह क्षत्रिय’ लिखते हैं। अब जाकर उनको पिछड़ा वर्ग और सैंथवार लोगों की याद आयी है। इतिहास ऐसे पिछड़ों और दलितों से चिढ़ने वालों को माफ नहीं करेगा।”

गौरतलब है कि आरपीएन सिंह ने मंगलवार को दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। लल्लू ने इसे आरपीएन सिंह की अवसरवादी सोच का परिणाम बताया। इस दौरान उन्होंने कुछ समय पहले भाजपा में गये कांग्रेस के जितिन प्रसाद को भी निशाने पर लेते हुये कहा कि आरपीएन सिंह और जितिन प्रसाद जैसे राजे महाराजे, केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के डर से भाग रहे हैं। कांग्रेस में शाही खानदानों के ऐसे लोगों के लिये अब कोई जगह नहीं है।

उन्होंने कहा कि आरपीएन सिंह ने उत्तर प्रदेश में एक मामूली किसान के बेटे को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने के कारण आरपीएन सिंह ने कांग्रेस छोड़ दी। प्रदेश अध्यक्ष ने आरपीएन सिंह पर 2013 में संप्रग सरकार के मंत्री पद पर रहते हुये पूर्वांचल के खनन माफियाओं के खिलाफ आंदोलन करने से रोकने का भी आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, “2013 में आरपीएन सिंह केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री थे और उस जब मैं खनन माफियाओं के खिलाफ आंदोलन कर रहा था। तब उन्होंने मुझे आंदोलन नहीं करने के लिये कहा। लेकिन मैंने आंदोलन जारी रखा और बाद में शासन को उक्त खनन माफिया का पट्टा रद्द करना पड़ा।”

लल्लू ने कहा कि आरपीएन सिंह के कारनामों की फेहरिस्त लंबी है। समय समय पर वह इसे उजागर करते रहेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: