श्रीगंगानगर:- राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में पाकिस्तान सीमा से लगते श्रीकरणपुर थाना क्षेत्र में शातिर ठगों द्वारा पंजाब के एक व्यवसायी को नोट दोगुने करने का झांसा देकर करीब 14 लाख रुपए रुपए ठग लेने का एक मामला उजागर हुआ है। पीडित व्यक्ति द्वारा पुलिस अधीक्षक को दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर केसरीसिंहपुर थाना में कल देर रात को एक तथाकथित बाबा और उसके दो चेलो गोसा और भिंदा आदि के विरुद्ध धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया। थाना प्रभारी गोपालसिंह नाथावत ने बताया कि पंजाब के मुक्तसर जिले में मलोट शहर निवासी गुरमीतसिंह अरोड़ा द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर जांच और अरायण पुलिस चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर रामनिवास को सौंपी गई है। रिपोर्ट में बताया कि वह पिछले वर्ष जनवरी माह में गोसा और भिंदा के संपर्क में आया था। उन्होंने बताया कि एक बाबा के पास नोट दुगने करने की मशीन है। इनकी बातों में आकर वह पहले दो लाख 70 हजार रुपए दुगने करवाने के लिए लेकर जनवरी 21 में चक 48 जीजी में आया। उससे रुपए ले लिए और बाद में कहा कि नोट दुगने करने की मशीन खराब है। उसे बाद में दुगने रुपए दे दिए जाएंगे। पीड़ित के मुताबिक कुछ दिनों बाद वह सात लाख रुपए लेकर फिर आया। उसे श्रीनगर गांव के पास बुलाया गया। उस दिन भी इन ठगों ने बताया कि बाबा ने काफी नोट दुगने कर रखे थे, लेकिन मशीन में आग लग जाने से करीब नब्बे लाख रूपए जल गए हैं। उससे 7 लाख रुपए ले लिए लेकिन नोट दुगने करके नहीं दिए। पीड़ित के मुताबिक फिर फ़रवरी 21 में उसे 4 लाख रुपए लेकर आने को कहा। वह चार लाख रुपए लेकर आया तो उसे एक गाड़ी में बिठा लिया। नोट दुगने करने की गोसा और भिंदा बातें करने लगे। वे सभी गाड़ी में बैठे थे कि अचानक चार व्यक्ति पुलिस की वर्दी पहने हुए आए। उनको देखकर गोसा, भिंदा और इनके 2-3 साथी उसे गाड़ी से उतारकर-पुलिस आ गई, पुलिस आ गई कहते हुए भाग गए। उसे बाद में पता चला कि यह पुलिस वाले भी नकली थे।इनके गिरोह के ही सदस्य थे, जो पुलिस की वर्दी में आए थे। गुरमीतसिंह के अनुसार यह गिरोह बीते 1 वर्ष में उससे 13 लाख 70 हजार रुपए दुगने करने के नाम पर ले चुका है।थाना प्रभारी ने बताया कि पीड़ित से अभी शुरुआती पूछताछ हुई है। उसे विस्तृत पूछताछ के लिए बुलाया गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: