किशनगंज :- खनन पदाधिकारी बनकर वाहनों से अवैध वसूली कर रहे दो युवक को स्थानीय लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। उत्तरपाली वार्ड नंबर एक के निवासी गिरफ्तार आरोपी अविनाश झा के पिता शिवचंद्र झा एक सेवानिवृत्त पुलिस पदाधिकारी हैं। वह फिलहाल एचडीएफसी बैंक में फील्ड ऑफिसर के पद पर तैनात हैं। जबकि दूसरे आरोपी मुकेश कुमार के पिता योगेंद्र साहू वर्तमान में फर्टिलाइजर विभाग में रेंज ऑफिसर हैं। पुलिस ने तलाशी के दौरान एक बिना नंबर की मारूति ओमनी वैन सहित कुल 36 हजार रुपये और दो मोबाइल बरामद किया। दोनों युवकों की गिरफ्तारी से शहर में चर्चा का बाजार गर्म हो गया है।

बिलायतीबाड़ी,खगड़ा निवासी ट्रैक्टर चालक दिलदार हुसैन की लिखित शिकायत पर टाउन थाना में आइपीसी की धारा 467, 468, 471, 384, 504, 506, 379/34 के तहत कांड संख्या 216/19 दर्ज कर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। जबकि गिरफ्तार आरोपियों को सोमवार को मेडिकल जांच के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

जानकारी के अनुसार रविवार देर रात टाउन थाना क्षेत्र के बहादुरगंज मोड़ स्थित सहाना मंडी के निकट दोनों अभियुक्त खुद को खनन पदाधिकारी बताकर सड़क से गुजर रहे वाहनों से अवैध वसूली कर रहे थे। उसी समय दिलदार हुसैन ट्रैक्टर पर बहादुरगंज से मक्का लादकर घर वापस लौट रहे थे। जिसे दोनों अभियुक्तों ने जबरन रोक लिया और ओवरलोड का बहाना बनाकर रुपये की मांग करने लगे। इस दौरान जब दिलदार ने भागने की चेष्टा की तो मारूति पर सवार अविनाश और मुकेश ने दूर तक पीछा कर उसे दबोच लिया और मारपीट करने लगे। शोरगुल सुनकर स्थानीय लोग घटना स्थल पर पहुंचे और दोनों तथाकथित नकली खनन पदाधिकारी को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। बिना नंबर की मारूति वैन की जांच के क्रम में सीट के नीचे छिपा कर रखे बीआर 37 पी 0857 नंबर की दो नंबर प्लेट बरामद कर ली गई। वहीं इस संबंध में थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि फ़र्जी खनन पदाधिकारी बनकर वसूली करने के आरोप में गिरफ्तार अभियुक्तों को जेल भेज भेज दिया गया है एवम पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: