April 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

जेपी नड्डा की सांसदों-विधायकों को दो टूक- रिश्तेदार को न बनवाएं प्रत्याशी

लखनऊ:- लखनऊ के दो दिवसीय दौरे के अंतिम दिन बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सांसदों, विधायकों और संगठन पदाधिकारियों से बैठक की। इस दौरान उन्होंने साफ तौर पर कह दिया कि कोई भी अपना निजी एजेंडा न चलाए। उन्हें यूपी में होने जा रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में भी सावधान रहना है। पार्टी पूरी मजबूती से पंचायत चुनाव लड़ेगी। कोई भी सांसद या विधायक अपने प्रत्याशियों को चुनाव में न उतारें। पार्टी की तरफ से तय जो भी प्रत्याशी हो, उसे ही समर्थन दें। इस दौरान नड्डा ने 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं को जीत मंत्र दिए।
जेपी नड्डा ने कहा कि अगर सांसदों, विधायकों को अपने क्षेत्र में प्रतिनिधि बनाना है तो किसी कार्यकर्ता को बनाएं। किसी रिश्तेदार या करीबी को प्रतिनिधि न बनाया जाए। उन्होंने कहा कि हम पूरी ताकत से पंचायत चुनाव लड़ेंगे। सांसदों और विधायक गांवों में जाएं और बताएं कि लोगों के कल्याण के काम सिर्फ भाजपा सरकार ने ही किए हैं। उन्होंने कहा कि नाते-रिश्तेदारों की सिफारिश न करें। ऐसा नहीं होना चाहिए कि अपने उम्मीदवार मैदान में उतार दिए जाएं। केवल और केवल पार्टी प्रत्याशी के लिए जुटना है। नड्डा ने कहा, ‘एक बूथ पर करीब 900 से 100 वोट होते हैं और एक बूथ की लिस्ट करीब 30-35 पन्ने की होती है। एक पन्ने में 30 नाम होते हैं। इस वर्ष मैं बूथ अध्यक्षों को एक टारगेट देता हूं कि एक-एक पन्ने के लिए एक-एक कार्यकर्ता को जिम्मेदारी सौपिए। वो हर 15 दिन पर उन 30 लोगों से न सिर्फ संपर्क करे, बल्कि उनके सुख-दुख में शामिल हो। सामाजिक समरसता में योगदान करें और पूरा सम्मान देते हुए उसे मुख्यधारा में जोड़ने का काम करे। आगे चलकर हम पन्ना कमिटी बनाएंगे, वो टारगेट आपको अगली बार दूंगा। हमको पन्ना प्रमुख से पन्ना कमिटी तक जाना है और देश के हर एक बूथ पर पन्ना कमेटी बनाकर कमल खिलाएंगे। अंत में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोरोना संकट के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि लॉकडाउन में यूपी से गुजरने वाले हर मजदूर की चिंता की।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: