अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखंड उच्च न्यायालय ने जज उत्तम आनंद की मौत मामले में सीबीआई को तत्काल जांच शुरू करने का दिया निर्देश


रांची:- झारखंड उच्च न्यायालय में धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत मामले में मंगलवार को सुनवाई हुई।
उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डॉ0 रवि रंजन और न्यायमूर्ति सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने सीबीआई को इस मामले में जांच जल्द शुरू करने का निर्देश दिया है,ताकि साक्ष्य के साथ छेड़छाड़ ना हो सके। खंडपीठ ने यह निर्देश सीबीआई के अधिवक्ता का जवाब सुनने के बाद यह आदेश दिया। दिया। सीबीआई की ओर से बताया गया कि राज्य सरकार से सीबीआई जांच का अनुशंसा पत्र सीबीआई को कल ही मिला है। चार अगस्त को सीबीआई जांच की अधिसूचना जारी कर सकता है।
इस पर कोर्ट ने कहा कि अधिसूचना जारी होने के बाद सीबीआई को तत्काल प्राथमिकी दर्ज करना चाहिए। अदालत ने सरकार को केस के सभी दस्तावेज और अन्य लॉजिस्टिक सपोर्ट सीबीआई को उपलब्ध करने का निर्देश दिया। इससे पहले एसआईटी की ओर से जांच की प्रगति रिपोर्ट कोर्ट को पेश की गयी। रिपोर्ट देखकर अदालत संतुष्ट नहीं हुई। अदालत ने विशेष अनुसंधान टीम ( एसआईटी) की स्टेटस रिपोर्ट पर कड़ी नाराजगी जताई। अदालत ने इस दौरान कई सवाल उठाए और पूछा कि जब घटना सुबह 5ः08 की है, तो प्राथमिकी 12ः45 पर क्यों दर्ज की गई। जबकि सीसीटीवी फुटेज में जज को तुरंत उठाकर निजी अस्पताल पहुंचाया गया है। अदालत ने ये भी पूछा कि क्या फर्द बयान के बाद ही प्राथमिकी दर्ज किए जाने का प्रावधान है।
सुनवाई के दौरान अदालत ने डीजीपी को अदालतों की सुरक्षा सख्त करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने कहा कि इस घटना के बाद न्यायिक अधिकारियों में भी भय है। इसलिए डीजीपी न्यायिक अधिकारियों की सुरक्षा सख्त करें। चीफ जस्टिस ने कहा कि अदालतों में भी सुरक्षा के सख्त कदम उठाए जाने चाहिए। हाईकोर्ट समेत सभी न्यायालयों में प्रशिक्षित पुलिसकर्मियों की तैनाती की जानी चाहिए।

%d bloggers like this: